दैनिक भास्कर हिंदी: A सर्टिफिकेट के साथ रिलीज होगी सनी देओल की फिल्म मोहल्ला अस्सी

September 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड फिल्म ''मोहल्ला अस्सी'' की रिलीज का रास्ता अब साफ हो गया है। दिल्ली हाइकोर्ट ने इस फिल्म को 'A' सर्टिफेकेट के साथ रिलीज करने का आदेश दे दिया है। कोर्ट ने सिर्फ एक कट के साथ फिल्म को रिलीज करने के लिए सेंसर बोर्ड का कहा है। इससे पहले सेंसर बोर्ड ने फिल्म को सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया था। सनी देओल की ये फिल्म लंबे समय से अटकी पड़ी थी। इस फिल्म में सनी देओल के साथ, साक्षी तनवर, रवि किशन, मुकेश तिवारी, सौरभ शुक्ला, राजेंद्र गुप्ता, सीमा आजमी जैसे कलाकारों ने अभिनय किया है।

फिल्म 'मोहल्ला अस्सी' को मिली इस कानूनी जीत से उत्साहित फिल्म निर्माता ने कहा कि "वे इसे जल्द से जल्द प्रदर्शित करने की कोशिश करेंगे।" हालांकि फिल्म पहले ही लीक हो चुकी है और क्रिटिक्स इसकी सराहना कर चुके हैं। वहीं फिल्म के संवादों और भगवान शिव के सपने में आकर गाली बकने वाले द्रश्य को लेकर बनारस के कई संगठनों इस फिल्म का विरोध किया  था। 

उपन्यास 'काशी का अस्सी' पर आधारित है फिल्म

जस्टिस संजीव सचदेवा, क्रॉसवर्ड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रहे थे। फिल्म 'मोहल्ला अस्सी' डॉक्टर काशीनाथ सिंह के मशहूर उपन्यास काशी का अस्सी पर आधारित है, जो धार्मिक कुरीतियों पर व्यंग्य करती है। इसके साथ ही आध्यात्मिक शहर पर व्यवसायीकरण के असर और पर्यटकों को लुभाने की कोशिश करने वाले फर्जी गुरुओं को भी दिखाती है। वाराणसी का मशहूर अस्सी घाट गंगा के दक्षिणी क्षेत्र में अस्सी नदी और गंगा नदी के संगम पर स्थित है। सेंसर बोर्ड के सर्टिफिकेट देने से इनकार के बाद फिल्म रिवाइजिंग कमेटी के पास गई लेकिन वहां भी इसे सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया गया।

10 सीन हटाने और डिस्क्लेमर चलाने को कहा

निर्माता फिल्म सर्टिफिकेट एपीलेट ट्रिब्यूनल के पास मामला ले गए थे, तो इसमें 10 सीन हटाने और डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) चलाने को कहा गया है कि फिल्म किसी की भावना को ठेस पहुंचाने के इरादे से नहीं बनाई गई। इसके बाद हाईकोर्ट और फिर सुप्रीमकोर्ट में मामला गया जहां निर्माताओं को बड़ी राहत मिली और रिलीज का रास्ता साफ हो गया। इस फिल्म का निर्देशन डॉक्टर चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने किया है। निर्माता विनय तिवारी का मानना है कि फिल्म इतनी अच्छी बनी है कि लोग इसे देखने के लिए जरुर सिनेमाघरों तक जाएंगे और फिल्म सफल साबित होगी।

निर्माता को बंधी उम्मीद

'मोहल्ला अस्सी' के निर्माता विनय तिवारी के मुताबिक आदेश से जुड़े कागजात मिल गए हैं। फिल्म जल्द से जल्द प्रदर्शित करने की कोशिश होगी। फिल्म अच्छी बनी है और दर्शकों को भी पसंद आएगी। फिल्म में कुछ गालियां हैं, जो सामान्य बातचीत के दौरान बनारस में इस्तेमाल की जातीं हैं। इससे पहले भी गालियों वाली कई फिल्में सेंसर बोर्ड से पास हुईं हैं। इससे साफ है कि सेंसर बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने जान बूझकर फिल्म को रोकने की कोशिश की थी।