comScore

माधुरी दीक्षित: फ्रंटलाइन वर्कर इस मुश्किल वक्त में रोशनी देती मोमबत्तियों की तरह हैं

माधुरी दीक्षित: फ्रंटलाइन वर्कर इस मुश्किल वक्त में रोशनी देती मोमबत्तियों की तरह हैं

हाईलाइट


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अभिनेत्री माधुरी दीक्षित के नए गाने कैंडल को ऑनलाइन 70 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं। इस गाने को फ्रंटलाइन कर्मियों को समर्पित करते हुए, वह कहती हैं कि ये वही हैं जो इस अंधेरे समय में सबसे अधिक चमक रहे हैं। इस गाने को लॉस एंजेलिस में कोविड-19 लॉकडाउन से पहले रिकॉर्ड किया गया था।

माधुरी ने आईएएनएस से कहा, हर कोई अपने जीवन में संघर्ष से गुजरता है। लेकिन हमें यह सोचना चाहिए कि मैं इससे ज्यादा मजबूत होने जा रहा हूं। मैं वही कहानी बताना चाहती थी इसलिए हमने ये गीत लिखा। माधुरी के लिए कैंडल आशा, सकारात्मकता और विश्वास का प्रतीक है।

बायपोलर डिस्ऑडर तनाव से जूझने की बात पर शमा का खुलासा

उन्होंने आगे कहा, मुझे लगा कि यह वह समय था जब लोगों को उस सकारात्मकता की आवश्यकता थी। यह भावना कि सब कुछ ठीक होने वाला है। यदि हम मजबूत रहेंगे, तो हम सभी एक साथ और मजबूत होकर बाहर आएंगे।

माधुरी को लगता है कि अभी फ्रंटलाइन वर्कर्स ही वह चमकती हुई रोशनी फैलाने वाली वाली मोमबत्तियां हैं। वह कहती हैं, स्वास्थ्य देखभाल और स्वच्छता कर्मी, पुलिस, जो हमारी रक्षा कर रहे हैं। वे असली मोमबत्तियां हैं, जो हमारी जिंदगी को आशा से भर रही हैं। मैं इस गीत को उन्हें समर्पित करना चाहती हूं।

बैड बॉय: एक्ट्रेस अमरीन बोली मुझे आसानी से नहीं मिली पहली फिल्म

चूंकि इस गाने का वीडियो पहले शूट नहीं किया गया था, इसलिए उन्हें इसे अपने घर के अंदर शूट करना पड़ा। माधुरी के दोनों बेटों ने भी इस गाने पर अपनी राय साझा करके वीडियो में योगदान दिया है।

कमेंट करें
gHekn