• Dainik Bhaskar Hindi
  • Fake News
  • Fake News: On the night of September 11, the Chinese army once again infiltrated the LAC and tried to remove the Indian Army from Black Top Hill

दैनिक भास्कर हिंदी: Fake News: चीनी सेना ने एक बार फिर LAC में घुसपैठ कर भारतीय सेना को ब्लैक टॉप हिल से हटाने की कोशिश की, जानें क्या है वायरल फोटो का सच

September 14th, 2020

डिजिटल डेस्क। सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रहा है। इस फोटो के साथ यह दावा किया जा रहा है कि, 11 सितंबर की रात चीनी सेना ने एक बार फिर LAC पर घुसपैठ की। चीनी सेना ने भारतीय सेना को ब्लैक टॉप हिल से हटाने की कोशिश की। भारतीय सेना ने चीन की इस कोशिश को नाकाम कर दिया। 

किसने किया शेयर?
कई ट्विटर और फेसबुक यूजर ने भी फोटो शेयर कर यही दावा किया है। सोशल मीडिया के अलावा News 24 वेबसाइट पर भी ये खबर पब्लिश की गई है।

क्या है सच?
भास्कर हिंदी टीम ने पड़ताल में पाया कि, सोशल मीडिया पर वायरल फोटो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। इंटरनेट पर हमें News 24 के अलावा किसी अन्य न्यूज वेबसाइट पर ऐसी खबर नहीं मिली, जिससे पुष्टि होती हो कि, 11 सितंबर की रात भारत और चीन की सेनाओं के बीच एक फिर झड़प हुई है। 

दावे में वायरल फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च करने पर हमें न्यूज एजेंसी ANI की वेबसाइट पर 1 साल पुरानी एक खबर मिली। इस खबर में हमें वही फोटो मिली जो अब वायरल की जा रही है। ANI ने इस फोटो को शेयर कर जो कैप्शन दिया है। उससे यह स्पष्ट होता है कि फोटो का भारत-चीन सीमा पर चल रहे हालिया विवाद से कोई संबंध नहीं है। यह फोटो सियाचिन ग्लैशियर में अक्टूबर 2019 के दौरान चले स्वच्छ भारत कैंपेन की है। पीएम मोदी की अपील पर भारतीय सैनिकों ने भी इस कैंपेन में हिस्सा लिया था। केंद्र सरकार की एजेंसी पीआईबी फैक्ट चेक ने भी ट्वीट कर सीमा पर भारत-चीन सैनिकों के बीच हुई झड़प की खबर को फर्जी बताया है। 

निष्कर्ष :  सोशल मीडिया पर वायरल फोटो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। दरअसल सियाचिन ग्लैशियर में अक्टूबर 2019 के दौरान चले स्वच्छ भारत कैंपेन की है।

खबरें और भी हैं...