comScore

Fake News: क्या नोटों की गड्डी का RSS से कनेक्शन है ?

Fake News: क्या नोटों की गड्डी का RSS से कनेक्शन है ?

डिजिटल डेस्क। सोशल मीडिया पर तीन तस्वीरों का एक कोलाज शेयर किया जा रहा है। फोटो में नोटों की गड्डियां दिखाई दे रही हैं। दावा किया जा रहा कि यह जाली पैसे हैं, जो गुजरात में आरएसएस समर्थक के पास से बरामद हुए हैं। फेसबुक पर इसे Sayyed Sohail Ahmed ने शेयर किया है। पोस्ट पर कैप्शन है, गुजरात से नकली नोटों का भंडार पकड़ा गया और ईमानदार संघ समर्थक केतन दवे की कार से मिला ये नकली नोटो का जखीरा। आरबीआई को बंद करके पैसे छापने और संचालन का काम भी इनको ही दे देना चाहिए।

                                                                         

क्या है सच?

भास्कर हिंदी टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि किया जा रहा दावा गलत है। वायरल तस्वीर गुजरात की नहीं बल्कि तेलंगाना की है। पड़ताल में हमें Telangana Today की 2 नवंबर 2019 की खबर मिली। प्रकाशित न्यूज के मुताबिक तेलंगाना पुलिस ने खम्मम में पांच लोगों की गैंग से जाली नोट बरामद किए। जिनका मूल्य 6 करोड़ से ज्यादा था।

                                                                         

वहीं केतन दवे गुजरात के नाम से पड़ताल की तो हमें Financial express की 4 मार्च 2017 की एक रिपोर्ट मिली। जिसके मुताबिक राजकोट के फाइनेंसर केतन दवे के पास 3.92 करोड़ रुपए के फर्जी नोट बरामद हुए थे। हालांकि उनका आरएसएस से कोई कनेक्शन है ऐसी कोई रिपोर्ट हमें पता नहीं चली।

                                                           

निष्कर्ष: यह साफ है कि तेलंगाना में जब्त किए नोटो को गुजरात और आरएसएस का बताकर वायरल किया जा रहा है। 

कमेंट करें
nUtPh