• Dainik Bhaskar Hindi
  • International
  • Britain's PM candidate Rishi Sunak claims, China is the biggest threat to the world, can take this action when it comes to government

सुनक ने चीन को घेरा : प्रधानमंत्री बने तो चीन के खिलाफ भारत का साथ देंगे ऋषि सुनक! जानिए चीन पर किस तरह वार पर वार करते गए ब्रिटेन के पीएम पद की रेस में शामिल सुनक

July 25th, 2022

हाईलाइट

  • ऋषि सुनक ने चीन को बताया सबसे बड़ा खतरा

डिजिटल डेस्क, लंदन। ब्रिटेन के पीएम पद के उम्मीदवार ऋषि ने बड़ा खुलासा किया है, जिसके बाद दुनियाभर में भूचाल आ गया है। ऋषि सुनक ने ये दावा किया है कि चीन दुनियाभर के लिए खतरा बन गया है। ब्रिटेन में इन दिनों पीएम पद के लिए चुनाव चल रहा है, इसी बीच सुनक का बयान आना सवाल खड़े करता है। गौरतलब है कि पीएम पद की उम्मीदवार सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी की लिज ट्रस ने ऋषि सुनक पर गंभीर आरोप लगाया था और कहा कि सुनक चीन पर कमजोर रूख अपना रहे हैं।

जिसके जवाब में सुनक ने पलटवार किया और कहा कि चीन दुनिया के लिए बड़ा खतरा है और पीएम बनने पर वह कौन-कौन सा एक्शन लेंगे। उसके बारे में भी बता दिया है। दरअसल, ब्रिटेन में इन दिनों दोनों पीएम पद के प्रबल दावेदार हैं। जिसकी वजह से आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है। 


पीएम बनने पर ये काम करेंगे सुनक

ऋषि सुनक ने लिज ट्रस के आरोपों पर चीन को लेकर अपनी स्थिति स्पष्ट की और जमकर हमला बोला। उन्होंने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा कि चीन जिस तरह से अमेरिका और भारत जैसे देशों को निशाना बना रहा है। ये दुनियाभर के देशों के लिए खतरा बन रहा है। उसकी नीति स्पष्ट दिखाई भी दे रही है।

सुनक ने कहा कि वर्तमान में चीन नई-नई तकनीक के जरिए दूसरे देशों के काम में दखलंदाजी कर रहा है। इससे निपटने के लिए सुनक ने नाटो जैसे संगठन की तरह ही एक और संगठन बनाने की बात की है। सुनक ने बताया कि स्वतंत्र देशों के लिए एक ऐसा संगठन खड़ा किया जाएगा जो चीन के मंसूबों पर पानी फेरने का काम करेगा।

चीन पर सुनक ने लगाया गंभीर आरोप

पीएम पद के उम्मीदवार सुनक ने चीन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि चीन लंबे समय से ब्रिटेन की टेक्नोलॉजी की चोरी कर रहा है। यहां तक कि सुनक ने बताया कि चीन देश में चल रहे विश्वविद्यालयों में घुसपैठ की कोशिश कर रहा है। चीन ताइवान जैसे देशों को डरा रहा है, उस पर गैरकानूनी तरीके से अधिकार जमा रहा है। हांगकांग में मानवाधिकार का उल्लंघन कर रहा है।

चीन की विस्तारवादी नीति को भी सुनक ने खतरा बताया और कहा कि चीन कई देशों को कर्ज तले दबाने का काम कर रहा है। फिर उनकी संपत्ति को हथियाने पर जोर दे रहा है। उन्होंने बताया कि अगर वो पीएम बनते हैं तो देश में चल रहे 30 Confucius Institues को तत्काल बंद कर देंगे। जिसका संचालन चीन की तरफ से किया जा रहा है। चीन पर आरोप है कि इस संस्थान के जरिए चीन अपना प्रोपेगेंडा फैलाता है।

खबरें और भी हैं...