comScore

नेपाल में हुए सीरियल ब्लास्ट की कम्युनिस्ट पार्टी ने ली जिम्मेदारी


हाईलाइट

  • कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल ने सोमवार को सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी ली
  • नेपाल पुलिस को पहले से ही ब्लास्ट के पीछे कुम्युनिस्ट पार्टी के होने का संदेह जताया था
  • पुलिस ने इसके बाद इस पार्टी के कुछ लोगों को भी गिरफ्तार किया था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नेत्रा बिक्रम चंद की अगुवाई वाली कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल ने सोमवार को सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी ली। नेपाल पुलिस ने पहले से ही इन सीरियल ब्लास्ट के पीछे कुम्युनिस्ट पार्टी के होने का संदेह जताया था क्योंकि विस्फोटों की जगह से समूह से संबंधित पर्चे मिले थे। पुलिस ने इसके बाद इस पार्टी के कुछ लोगों को भी गिरफ्तार किया था।

बता दें कि रविवार को काठमांडू में 4 सीरियल ब्लास्ट किए गए थे जिसमें करीब चार लोगों की मौत हो गई थी जबकि नौ लोग घायल हो गए थे। यह धमाके काठमांडू के सुकेधरा, घट्टेकुलो और नागधुंगा क्षेत्र में किए गए थे। इन विस्फटों के बाद सेना की बम निरोधक इकाई ने कोटेश्वोर, सतडोबातो, ग्वारको, लगनखेल और न्यू बोस्पार्क जैसे क्षेत्रों में बमों को निष्क्रिय किया।

इसके अलावा, नेपाल के कई हिस्सों में सोमवार को वाहनों को आग लगा दी गई जिससे जनता में डर पैदा हो गया। देशभर में हुई हिंसा की घटनाओं में नवलपरासी जिले में ट्रक को जला दिया गया जबकि सुरखेत में बस को आग के हवाले कर दिया गया। विस्फोटों के कारण सोमवार को काठमांडू में सड़के खाली नज़र आई।

पुलिस अधिकारी श्याम लाल ग्यावली ने कहा था कि हमें आशंका है कि यह धमाके माओवादी बागियों के समूह ने किए हैं। सरकार ने इस समूह का समर्थन कर रहे लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके विरोध में ही इन धमाकों को अंजाम दिया गया है।

विस्फोटों में शामिल नेपाल के प्रतिबंधित समूह ने सोमवार देर शाम जारी की गई विज्ञप्ति में सरकार की आलोचना की। यह पहली बार नहीं है कि समूह द्वारा किए गए विस्फोट में किसी की जान चली गई हो। मार्च में, ललितपुर के नखू में Ncell (एक निजी दूरसंचार कंपनी) के कार्यालय को निशाना बनाते हुए धमाका किया गया था जिसमें एक नागरिक की मौत हो गई थी।

रविवार को हुए बम वस्फोट और गिरफ्तारी के बाद इस समूह की आलोचना बढ़ गई है और जनता ने सरकार से एक आम सहमति तक पहुंचने के लिए युद्धरत समूह के साथ बैठने का आग्रह किया है।

कमेंट करें
OCMGy