comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Coronavirus in World: दुनिया में कोरोना संक्रमण से बीते 24 घंटों में 8,826 लोगों ने जान गवांई, अब तक 3 करोड़ 44 लाख संक्रमित 

October 02nd, 2020 17:57 IST
Coronavirus in World: दुनिया में कोरोना संक्रमण से बीते 24 घंटों में 8,826 लोगों ने जान गवांई, अब तक 3 करोड़ 44 लाख संक्रमित 

हाईलाइट

  • 77.81 लाख से ज्यादा मरीजों का अभी इलाज चल रहा
  • दुनिया में 10.27 लाख से ज्यादा लोगों की मौत
  • 2.56 करोड़ से ज्यादा लोग अब स्वस्थ

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी का कहर जारी है। बीते 24 घंटों में दुनिया में कोरोना संक्रमण के 3 लाख 13 हजार नए मामले सामने आए हैं, जबकि 2 लाख 25 हजार मरीज इस वायरस से उभरकर ठीक भी हुए हैं। हालांकि 8 हजार 826 लोगों की जान भी चली गई। इससे पहले एक दिन में सर्वाधिक 17 अप्रैल को 8513 लोगों की जान गई थी। ये आंकड़ा अर्जेंटीना में सात गुना अधिक मौत की संख्या बढ़ने की वजह से बढ़ है। अर्जेंटीना में पिछले 24 घंटे में दुनिया में सबसे ज्यादा 3352 मौत हुई है। इससे पहले अर्जेंटीना में 22 सितंबर को सबसे ज्यादा 470 मौत देखी गई थी।

वर्ल्ड-ओ-मीटर के अनुसार, दुनियाभर में अब तक 3 करोड़ 44 लाख लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इसमें से 10 लाख 27 हजार यानी 3% लोगों ने अपनी जान गंवा दी है तो वहीं 2 करोड़ 56 लाख यानी 74% से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं। पूरी दुनिया में 77 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं यानी कि फिलहाल इतने लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

अमेरिका में कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा असर
अमेरिका, ब्राजील जैसे देशों में कोरोना मामले और मौत के आंकड़ों में कमी आई है। भारत ही एक मात्र देश है जहां कोरोना महामारी सबसे तेजी से बढ़ रही है। हालांकि कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में अमेरिका पहले पायदान पर है। यहां अब तक 75 लाख लोग संक्रमण के शिकार हो चुके हैं। अमेरिका में पिछले 24 घंटों में 46 हजार से ज्यादा नए केस आए हैं। वहीं ब्राजील में 24 घंटे में 35 हजार से ज्यादा मामले आए हैं। दुनिया में कोरोना मामलों में नंबर-2 स्थान पर पहुंच चुके भारत में हर दिन सबसे ज्यादा केस सामने आ रहे हैं।

डोनाल्ड ट्रम्प और पत्नी मेलानिया संक्रमित
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पत्नी मेलानिया ट्रम्प कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। दोनों को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। गुरुवार को ट्रम्प की सीनियर एडवाइजर होप हिक्स संक्रमित पाई गईं थीं। पिछले दिनों उन्होंने राष्ट्रपति के साथ कई यात्राएं की थीं। इसके बाद राष्ट्रपति और उनकी पत्नी का भी कोरोना टेस्ट किया गया था। शुक्रवार को इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

अमेरिका:           केस- 7,494,178, मौत- 212,655
भारत:                केस- 6,391,960, मौत- 99,804
ब्राजील:              केस- 4,849,229, मौत- 144,767
रूस:                 केस- 1,185,231, मौत- 20,891
कोलंबिया:          केस- 835,339, मौत- 26,196
पेरू:                 केस- 814,829, मौत- 32,463
स्पेन:                 केस- 778,607, मौत- 31,973
अर्जेंटीना:           केस- 765,002, मौत- 20,288
मैक्सिको:           केस- 743,216, मौत- 77,646
साउथ अफ्रीकाः  केस- 676,084, मौत- 16,866

21 देशों में 3 लाख से ज्यादा कोरोना केस
दुनिया के 21 देशों में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3 लाख के पार पहुंच चुकी है. इनमें ईरान, पाकिस्तान, तुर्की, सउदी अरब, इटली, जर्मनी और बांग्लादेश भी शामिल है। दुनिया में 60 फीसदी लोगों की जान सिर्फ छह देशों में गई है। ये देश हैं- अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत, ब्रिटेन, इटली। दुनिया के चार देशों (अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत) में 75 हजार से ज्यादा संक्रमितों की मौत हुई है। इन चार देशों में 5 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है, ये संख्या दुनिया में मौतों की कुल 52 फीसदी है।

फ्रांस : पेरिस में रेस्टोरेंट्स बंद होंगे
फ्रांस में संक्रमण की दूसरी लहर सरकार पर बहुत भारी पड़ रही है। अब पेरिस में सभी रेस्टोरेंट्स और बार को बंद करने का फैसला किया गया है। हालांकि, इसके लिए रविवार तक इंतजार किया जाएगा। अगर संक्रमण की दर में गिरावट नहीं आती तो मैक्सिमम अलर्ट लेवल घोषित करते हुए यहां सभी गैर जरूरी दुकानें और मॉल भी बंद किए जाएंगे। यह जानकारी फ्रांस के हेल्थ मिनिस्टर ओलिवर वेरन ने दी। पिछले 24 घंटे में फ्रांस में कुल 13 हजार 970 मामले सामने आए। बुधवार को यहां 12 हजार से ज्यादा नए संक्रमित पाए गए थे।

इटली : यहां भी हालात बिगड़े
अप्रैल के बाद इटली में पहली बार एक दिन में 2 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। गुरुवार को यहां कुल 2 हजार 548 लोग पॉजिटिव पाए गए। इस बीच, सरकार ने कहा है कि हालात को देखते हुए स्टेट ऑफ इमरजेंसी यानी राष्ट्रीय आपातकाल जनवरी तक बढ़ाया जा रहा है। प्रधानमंत्री गिसेप कोन्टे ने कहा- हम संसद में प्रस्ताव लाने जा रहे हैं। हालात बहुत बेहतर नहीं हैं, इसलिए आपातकाल बनाए रखने और इसे बढ़ाने के अलावा फिलहाल सरकार के पास कोई और रास्ता नहीं है। और ये स्थिति पूरे यूरोप के सामने है।

कमेंट करें
w1ksB
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।