ईरान : अगर अमेरिका ने निर्णय नहीं लिया तो परमाणु समझौते के लिए हमेशा इंतजार न करें

March 1st, 2022

हाईलाइट

  • अगर ईरान अड़ियल रवैया अपनाता है तो अमेरिका वियना बातचीत से हटने के लिए तैयार है

डिजिटल डेस्क, तेहरान। ईरान ने मंगलवार को कहा कि अगर परमाणु समझौते पर अमेरिका कोई निर्णय लेने में विफल रहता है तो वह इसके लिए हमेशा इंतजार नहीं करेगा। ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद खतीबजादेह ने यह बात कही है। समाचार समिति शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा था कि अगर ईरान अड़ियल रवैया अपनाता है तो अमेरिका वियना बातचीत से हटने के लिए तैयार है। इसके जवाब में सईद खतीबजादेह ने मंगलवार को ट़्वीट कर कहा कि अमेरिका तो 2015 के परमाणु समझौते से पहले ही चला गया है, जिसे औपचारिक रूप से संयुक्त व्यापक कार्य योजना (जेसीपीओए) के रूप में जाना जाता है।

उन्होंने कहा, हर किसी का अपना अन्य विकल्प होता है और अमेरिका खोखला साबित हुआ है। धमकियां और झांसे हमेशा काम नहीं करते हैं और न ही करेंगे, सिर्फ फैसले ही कारगर साबित होते हैं। उन्होंने कहा एक सौदा हाथ में है,अगर अमेरिका अपना मन बनाता है तो ईरान इसके लिए तैयार है, लेकिन हमेशा इंतजार नहीं करेगा।

गौरतलब है कि ईरान ने जुलाई 2015 में विश्व शक्तियों के साथ मूल परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। हालांकि, तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मई 2018 में अमेरिका को समझौते से बाहर कर दिया और ईरान पर एकतरफा प्रतिबंधों को फिर से लागू कर दिया था। इसके बाद ईरान ने अपनी कुछ परमाणु प्रतिबद्धताओं को छोड़ते हुए अपने रुके हुए परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाया था।

ईरान और शेष जेसीपीओए सदस्यों अर्थात ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, रूस ,जर्मनी के बीच वियना में अप्रैल 2021 के बाद से आठ दौर की वार्ता हुई है, जिसमें अमेरिका अप्रत्यक्ष रूप से इस ऐतिहासिक सौदे को फिर से पुनर्जीवित करने के लिए प्रयास में है।

(आईएएनएस)