comScore

विमान हादसा: ईरान के खिलाफ लीगल एक्शन की तैयारी में 5 देश, लंदन में बैठक कर लेंगे निर्णय

विमान हादसा: ईरान के खिलाफ लीगल एक्शन की तैयारी में 5 देश, लंदन में बैठक कर लेंगे निर्णय

हाईलाइट

  • 16 जनवरी को लंदन में चर्चा करेंगे अपने नागरिकों को गंवाने वाले देश
  • यूकेन के अलावा कनाडा, स्वीडन और अफगानिस्तान के नाम सार्वजनिक
  • पांचवें देश के नाम का खुलासा अभी नहीं, लेकिन अटकलें ब्रिटेन को लेकर

डिजिटल डेस्क, सिंगापुर। अमेरिका के साथ चल र​हे​ विवाद के कारण ईरान की परेशानी बढ़ती ही जा रही हैं। उसे यूक्रेन के विमान को मिसाइल से गिराने की गलती खासी भारी पड़ सकती है। हादसे में ईरान के अलावा 5 देश के यात्रियों की मौत हो गई थी। इन पांच देशों ने गुरुवार 16 जनवरी को लंदन में बैठक करने का निर्णय लिया है। जानकारी के अनुसार इस बैठक में ये सभी देश ईरान के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर सकते हैं। यूक्रेन के विदेश मंत्री ने यह जानकारी दी है। 

सिंगापुर के आधिकारिक दौरे से इतर यूक्रेन के विदेश मंत्री वाडिम प्रिस्तायको ने कहा कि इस मीटिंग में ईरान से हर्जाने की मांग पर फैसला लिया जाएगा। 

हादसे में 176 लोगों की हुई थी मौत
बता दें कि बीते बुधवार को ईरान की राजधानी तेहरान के बाहरी इलाके में एक मिसाइल हमले में प्लेन क्रैश हो गया था, जिससे विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी। शुरुआती रिपोर्ट्स में विमान में खामी की बात सामने आई थी, लेकिन बाद में ईरान ने स्वीकार किया कि उसकी मिसाइल से ही विमान गिरा था।

ईरान ने यूक्रन को विमान का ब्लैक बॉक्स सौंपने पर सहमति दी 
प्रिस्तायको ने कहा कि ईरान की ओर से यह कहना मूर्खतापूर्ण है कि यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइंस का विमान उसके मिलिट्री बेस के पास गुजर रहा था। उन्होंने कहा कि ईरान ने यूक्रेन को विमान का ब्लैक बॉक्स सौंपने पर सहमति जताई है। किसी भी विमान हादसे की जांच के लिए ब्लैक बॉक्स को महत्वपूर्ण माना जाता है।

यूकेन के अलावा कनाडा, स्वीडन और अफगानिस्तान के नाम सार्वजनिक
पांच देशों में यूक्रेन के अलावा कनाडा, स्वीडन और अफगानिस्तान शामिल हैं। हालांकि पांचवें देश का नाम अभी पता नहीं चला है। कनाडा के करीब 57 नागरिक विमान में शामिल थे। मगर माना जा रहा है कि पांचवां देश ब्रिटेन हो सकता है। कनाडा ने भी पहले कहा था कि इन चार देशों और ब्रिटेन ने मृतकों के परिजनों का समर्थन करने के लिए एक समूह बनाया है। प्रिस्तायको ने कहा कि विमान हादसे में जिन देशों के लोगों की मौत हुई है, उन सभी ने एक ग्रुप तैयार किया है। 16 जनवरी को ग्रुप की लंदन में मीटिंग है और इस घटना को लेकर कानूनी कार्रवाई को लेकर फैसला लिया जा सकता है।

कमेंट करें
0V2Bi