comScore

जापान में 'हेगीबिस' तूफान ने ली 35 की जान, भारतीय नौसेना ने भेजे दो युद्धपोत


हाईलाइट

  • जापान में यह 60 सालों में सबसे विनाशकारी तूफान है
  • तूफान से 35 लोगों की मौत, 100 से अधिक लोग घायल
  • भारतीय नौसेना ने जापान की मदद के लिए दो युद्धपोत भेजे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जापान की राजधानी भयंकर तूफान ‘हेगीबिस’ से जू रही है, इस तूफान का असर देश के अन्य हिस्सों में भी है। इस प्रलयकारी तूफान ने अब तक 35 लोगों की जान ले ली है, वहीं 100 से अधिक लोग घायल हुए हैं, जबकि 16 लोग लापता हैं। भारी बारिश के कारण आई इस बाढ़ में टोक्यो समेत कई शहरों में पानी भर गया है। इससे निपटने के लिए यहां बड़े पैमाने पर बचाव अभियान जारी है। 

आपको बता दें कि शक्तिशाली तूफान हेगीबिस ने दक्षिण-पश्चिम में इजु प्रायद्वीप पर शनिवार शाम सात बजे से दस्तक दी थी। यह तूफान 225 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार वाली तेज हवाओं के साथ आगे बढ़ा। जापान में यह 60 सालों में सबसे विनाशकारी तूफान है।

पीएम मोदी ने संवेदना व्यक्त की
इस तूफान पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संवेदना व्यक्त की है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि मैं इस प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान और तबाही से जल्द ठीक होने की कामना करता हूं। पीएम ने कहा कि भारत इस मुश्किल घड़ी में जापान के साथ एकजुटता से खड़ा है।

भारतीय नौसेना ने भेजे दो युद्धपोत 
राहत कार्य के लिए 31 हजार सैनिक और एक लाख बचावकर्मी रात भर लगे हुए हैं वहीं फंसे हुए लोगों को हेलीकॉप्टर से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। इसी बीच भारतीय नौसेना ने जापान की मदद के लिए दो युद्धपोत भेजे हैं। आईएनएस शहयाद्री और आईएनएस किल्तान भारी बारिश और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सहायता पहुंचाएंगे।

बड़े हिस्से में भारी बारिश
इस तूफान के आने के बाद जापाान के बड़े हिस्से में भारी बारिश हुई, जिससे बाढ़ आ गई और भूस्खलन की कई घटनाएं हुईं। इस तूफान ने पहले राजधानी टोकियो को अपनी चपेट लिया, फिर यह तूफान उत्तर की ओर बढ़ गया है। अब तक इस तूफान ने जापान के अधिकांश शहरों में तबाही मचाई है और इससे प्रभावित होने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है।

12 नदियों ने अपने किनारों को तोड़ा
एक रिपोर्ट के मुताबिक तोचिगी तोशिगी प्रांत के सानो में अकियामा नदी में बाढ़ आने से रिहायशी क्षेत्र जलमग्न हो गए और बचाव दल स्थानीय लोगों को वहां से निकाल रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार यहां 12 नदियों ने अपने किनारों को तोड़ दिया है। नागानो प्रांत में मूसलाधार बारिश से चिकुमा नदी से आसपास के इलाकों में बाढ़ आ गई है। इससे धारा में वाहन भी बह गए हैं।  

कमेंट करें
w41cn