अमेरिका की महिला राष्ट्रपति : कमला हैरिस ने बदला 250 सालों का इतिहास, पहली महिला राष्ट्रपति के तौर पर 85 मिनट तक संभाला कार्यभार  

November 20th, 2021

हाईलाइट

  • राष्ट्रपति बाइडन ने अपने रूटीन कोलोनोस्कॉपी चेकअप के लिए सौंपी थी शक्तियां

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। अमेरिका की उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस ऐसी पहली महिला बन गई है, जिन्हें 85 मिनट के लिए राष्ट्रपति की शक्तियां दे दी गई थी, जिसके बाद उन्होंने अमेरिका का कार्यभार एक राष्ट्रपति के तौर पर संभाला। बता दें कि,शुक्रवार को बाइडन अपने रूटीन कोलोनोस्कॉपी (आंतों की जांच) के दौरान एनेस्थीसिया में थे। इस दौरान उन्होंने कुछ समय के लिए अपनी शक्तियां कमला हैरिस को ट्रांसफर कर दी थी।  

बता दें कि, अमेरिका के संविधान के 25वें संशोधन में ये प्रक्रिया शामिल है, जिसके अंतर्गत देश का राष्ट्रपति अपनी शक्तियों का हस्तांतरण कर सकता है। हालांकि, ये तब संभव है,जब राष्ट्रपति अपनी ज़िम्मेदारियों को पूरा करने में सक्षम न हो। बीबीसी हिंदी में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार,अमेरिकी लोकतंत्र के 250 साल लंबे इतिहास में आज तक कोई भी महिला राष्ट्रपति नहीं बनी है। लेकिन, अब ये खिताब कमला हैरिस के नाम दर्ज हो गया है। 

व्हाइट हाउस के समयानुसार, राष्ट्रपति जो बाइडन ने सुबह 10.10 बजे अपनी शक्तियां कमला हैरिस को दी और 11.35 बजे उन्होंने इसे वापस ले लिया। राष्ट्रपति बाइडन की मेडिकल जांच उनके 79वें जन्मदिन की शाम को वॉशिंगटन के बाहर वॉल्टर रीड सैन्य अस्पताल में हुई थी। अमरिकी अधिकारियों की मानें तो, मेडिकल जांच के दौरान कमला हैरिस ने सारा काम व्हाइट हाउस की वेस्ट विंग में अपने कार्यालय से किया था। वहीं राष्ट्र्रपति बाइडन जांच के बाद जब व्हाइट हाउस लौटे तो, उनके चेहरे पर मुस्कुराहट थी और उन्होनें आने के बाद कहा कि,"मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं।"