comScore

रूस पर बैन के बाद पुतिन ने कहा- वाडा का प्रतिबंध लगाना राजनीति से प्रेरित

रूस पर बैन के बाद पुतिन ने कहा- वाडा का प्रतिबंध लगाना राजनीति से प्रेरित

हाईलाइट

  • वर्ल्ड डोपिंग रोधी एजेंसी ने डोपिंग को लेकर रूस को चार साल के लिए ओलंपिक और वर्ल्ड चैंपियनशिप से बैन किया है
  • वाडा द्वारा वैश्विक खेलों में हिस्सा लेने पर प्रतिबंध को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने राजनीति से प्रेरित बताया

डिजिटल डेस्क। वर्ल्ड डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA) ने डोपिंग को लेकर रूस को चार साल के लिए ओलंपिक और वर्ल्ड चैंपियनशिप से बैन कर दिया है। प्रतिबंध लगने के कारण रूस अगले साल जापान में होने वाले ओलिंपिक और 2022 में कतर में होने वाले फुटबॉल वर्ल्ड कप में भी हिस्सा नहीं ले पाएगा। रूस विंटर और पैरालिंपिक गेम्स में भी हिस्सा नहीं ले सकता। वाडा द्वारा वैश्विक खेलों में हिस्सा लेने पर प्रतिबंध को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने राजनीति से प्रेरित बताया। उन्होंने सोमवार को पेरिस में कहा, ‘‘यह ओलिंपिक चार्टर का उल्लंघन है। रूस के पास इस फैसले के खिलाफ अदालत जाने के सभी कारण मौजूद हैं।

वाडा ने डोप टेस्ट के लिए अपने खिलाड़ियों के गलत सैंपल्स भेजने और उससे छेड़छाड़ करने के मामले में रूस के खिलाफ ये कड़ा फैसला लिया। इवेंट्स में वे रूसी एथलीट्स उतर सकेंगे, जो डोप टेस्ट में पास रहे। लेकिन वे न्यूट्रल झंडे के तले खेलेंगे। उन्हें न्यूट्रल एथलीट्स ही कहा जाएगा, रूस का एथलीट नहीं। उनका बनाया रिकॉर्ड रूस के हिस्से में नहीं जोड़ा जाएगा।

पुतिन ने वाडा के फैसले की चुनौती देने के सवाल पर कहा, ‘‘सबसे पहले हमें वाडा के फैसले का विश्लेषण करने की जरूरत है। प्रतिबंध लगाने का आधार क्या है? मेरे अनुसार वाडा को रूस ओलिंपिक राष्ट्रीय समिति से कोई शिकायत नहीं है और यदि नहीं है तो रूस को राष्ट्रीय ध्वज के साथ हिस्सा लेने देना चाहिए।

पुतिन ने कहा, ‘‘कोई भी सजा व्यक्तिगत होनी चाहिए। दंड सामूहिक प्रकृति का नहीं हो सकता। यह ऐसे लोगों पर भी लागू हो रहा है, जिन्होंने कुछ गलत नहीं किया। हर कोई इसे समझता है। मुझे लगता है कि वाडा के विशेषज्ञ भी इसे समझते हैं।’’ रूस की डोपिंग रोधी एजेंसी 21 दिनों के भीतर खेलों की सबसे बड़ी अदालत खेल पंचाट में वाडा के इस फैसले के खिलाफ अपील कर सकती है।

कमेंट करें
gw1zQ