दैनिक भास्कर हिंदी: रूस में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का विरोध, विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी गिरफ्तार

May 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, मास्को। रूस में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का लगातार विरोध जारी है। देशभर से 1000 से अधिक लोगों को हिरासत में ले लिया गया। ओवीडी इंफो ह्यूमन राइट मॉनिटर ने बताया हिरासत में लिए गए विपक्षी दल के नेता एलेक्सी नवलनी ने लोगों से आह्वान किया था कि वे पुतिन के विरोध में सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करें। नवलनी ने कहा कि पुतिन का शासन रूस के तानाशाह जार की तरह ही निरंकुश है। ओवीडी इंफो ने सोशल मीडिया पर लिखा कि उसे रिपोर्ट मिली हैं कि रूस के अलग अलग 19 शहरों से कम से कम 1029 लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

 

1000 से ज्यादा प्रदर्शनकारी गिरफ्तार


बता दें कि अकेले राजधानी मास्को से ही 475 लोगों को हिरासत में लिया गया है। हजारों लोगों ने पुतिन के खिलाफ मॉस्को के पुश्किन स्क्वेयर पर प्रदर्शन किया। पुतिन के एक बार फिर से राष्ट्रपति बनने के विरोध में लोगों ने अपना आक्रोश जताया। इन प्रदर्शनकारियों की अगुआई एंटी-करप्शन कैंपेनर और पुतिन के विरोधी रहे एलेक्सी नवलनी ने की। पुलिस ने नवाल्नी समेत 1000 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

 

 

18 साल से सत्ता में हैं पुतिन

पूरे रूस में याकुत्स से लेकर पूर्वोत्तर स्थित सेंट पीटर्सबर्ग और कैलिनिनग्राद तक पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन किए गए। इन प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर नवलनी समर्थक थे। प्रदर्शन के दौरान नवलनी को सुरक्षाकर्मी घसीटते हुए ले गए। बता दें कि लोगों ने 'पुतिन चोर है और रूस आजाद होगा' के नारे लगाए। जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठियां बरसाईं। पुतिन विरोध लोगों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि "पुतिन देश चलाने लायक नहीं हैं। वे 18 साल से सत्ता में हैं और उन्होंने हमारे लिए कुछ भी अच्छा नहीं किया।"

 

2024 तक राष्ट्रपति रहेंगे पुतिन

ओवीडी-इन्फो नाम के पॉलिटिकल ऑर्गनाइजेशन ने कहा, "अगर वे भलाई चाहते हैं तो उन्हें गद्दी से हट जाना चाहिए। वहीं विपक्षा नेता नवलनी पर आरोप है कि उन्होंने पुलिस का आदेश नहीं माना। अगर ये साबित हुआ तो उन्हें 15 दिन की जेल हो सकती है। पहले भी नवाल्नी इसी तरह के आरोपों में कई हफ्ते जेल में गुजार चुके हैं।  हाल ही में मार्च में हुए चुनाव में पुतिन ने 77% वोट हासिल किए थे। रूस में जोसेफ स्टालिन के बाद वे सबसे ज्यादा सत्ता में बने रहने वाले वह दूसरे नेता हैं। व्लादिमीर पुतिन 2000, 2008 और 2012 में राष्ट्रपति चुने गए थे। 2008-12 तक पुतिन प्रधानमंत्री चुने गए थे। पुतिन 2000 से सत्ता में हैं। अब वे 6 साल और यानी 2024 तक राष्ट्रपति रहेंगे। वे कुल 24 साल सत्ता में बने रहेंगे।