रूस-यूक्रेन युद्ध : कीव पर आज रात रूस कर सकता है हमला, अब भारतीय छात्रों के पास बचने के लिए सिर्फ एक ही रास्ता शेष है!

March 1st, 2022

हाईलाइट

  • यूक्रेन में 15 हजार से ज्यादा भारतीय छात्र फंसे
  • अभी तक 1396 भारतीय नागरिकों को वतन वापस लाया गया

डिजिटल डेस्क, कीव। रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध में राजधानी कीव में आज रात काफी महत्वपूर्ण हो सकती है। खबरें आ रही हैं कि रूस की सेना यूक्रेन की राजधानी कीव की तरफ तेजी से बढ़ रही है और आज रात रूस कीव पर बड़ा हमला बोल सकता है। इसको मद्देनजर रखते हुए भारतीय दूतावास ने पहले ही सभी नागरिकों को किसी भी हाल में आज रात तक कीव छोड़ने की एडवायजरी जारी कर दी है। रूसी हमले में आज एक भारतीय छात्र ने अपनी जान गंवा दी है, जिसको लेकर विदेश मंत्रालय ने यूक्रेन व रूसी दूतावास को तलब भी किया है। 

भारतीय छात्रों के पास बचा ये विकल्प!

यूक्रेन में 15 हजार से ज्यादा भारतीय छात्र फंसे हुए हैं। इन्हें वहां से वापस लाने के लिए भारत सरकार ऑपरेशन गंगा अभियान भी चला रही है। हालांकि अब यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों के लिए सबसे बड़ी समस्या वहां के शहरों से दूसरे देशों के बॉर्डर तक पहुंचने में हैं। यातायात प्रभावित होने के कारण भारतीय छात्रों को यूक्रेन के शहरों से दूसरे देशों के बॉर्डर तक पहुंचने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

कीव में कर्फ्यू के हटने के बाद टैक्सी और ट्रेन चलने लगी हैं।  हालांकि ट्रेनों में इतनी भीड़ है कि उनमें जगह मिलना मुश्किल हो रहा है, यूक्रेन लोगों को बाहर निकालने के लिए स्पेशल ट्रेनें भी चला रहा है। वहीं प्राइवेट टैक्सी चालक दो से तीन गुना तक किराया वसूल रहे हैं, छात्र इनसे यूक्रेन के पड़ोसी देश पोलैंड, रोमानिया, मोलडोवा,  स्‍लोवाकिया और हंगरी तक पहुंच सकते हैं। इन्हीं देशों की मदद से भारत सरकार यूक्रेन से छात्रों को बाहर निकालने के लिए प्रयास कर रही है।

स्पाइस जेट ने छात्रों के लाने के लिए शुरू की फ्लाइट

यूक्रेन और रूस युद्ध में फंसे भारतीय छात्रों व अन्य नागरिकों को लाने के लिए स्पाइस जेट ने मंगलवार से स्पेशल फ्लाइट शुरू की है। इस स्पेशल फ्लाइट का संचालन स्लोवाकिया, कोसाइस से किया जाएगा। स्पाइसजेट का यह विमान दिल्ली से स्लोवाकिया के कोसाइस के लिए उड़ान भरेगा और वापसी कुटैसी, जॉर्जिया के रास्ते होगी। 

1396 भारतीयों की हुई वतन वापसी 

भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन गंगा के तहत एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट संचालित की जा रही है। इस अभियान के तहत अभी तक 1396 भारतीय नागरिकों व छात्रों को सुरक्षित वापस लाया गया है। हालांकि अभी भी 15 हजार से ज्यादा छात्र यूक्रेन से भारत लौटने का इंतजार कर रहे हैं। भारत सरकार ने इन छात्रों की वापसी और तेज करने के लिए भारतीय सेना की मदद ली है। एयर फोर्स के सी-17 मालवाहक जहाजों को इस काम में लगाया गया है। 

ऑपरेशन गंगा के तहत चल रही ये फ्लाइट

  • 26 फरवरी- 219 बुकारेस्ट- मुंबई
  • 27 फरवरी- 250 - बुकारेस्ट- दिल्ली
  • 27 फरवरी-240- बुडापेस्ट- दिल्ली
  • 27 फरवरी- 198 - बुकारेस्ट- दिल्ली
  • 28 फरवरी - 249 - बुकारेस्ट - दिल्ली
  • 1 मार्च - 240 - बुडापेस्ट - दिल्ली  

खबरें और भी हैं...