comScore

कोरोना संकट: इस देश में सेक्स वर्कर्स को मिली मंजूरी, लेकिन खेलों पर रहेगा प्रतिबंध

कोरोना संकट: इस देश में सेक्स वर्कर्स को मिली मंजूरी, लेकिन खेलों पर रहेगा प्रतिबंध

हाईलाइट

  • स्विट्जरलैंड में प्रॉस्टिट्यूशन का कारोबार कानूनी रूप से वैध है
  • स्विट्जरलैंड में खेलों पर जारी रहेगा प्रतिबंध

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बीच स्विट्जरलैंड सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया हैं। यहां सेक्स वर्कर्स को काम शुरू करने की परमिशन दे दी गई है। जल्द ही सेक्स वर्कर्स अपने काम पर लौट सकेंगे। लेकिन जूडो, बॉक्सिंग और कुश्ती जैसे शारीरिक संपर्क वाले खेलों पर रोक जारी रहेगा। 

स्विट्जरलैंड में प्रॉस्टिट्यूशन का कारोबार कानूनी रूप से वैध है। इसे 6 जून से दोबारा शुरू किया जाएगा। वहीं सरकार ने सिनेमाघर, नाइटक्लब और पूल को खोलने की भी इजाजत दे दी है। 

                         Sex racket busted in Baripada - Update Odisha

स्वास्थ्य मंत्री एलेन बर्सेट ने कहा कि इसमें कुछ हद तक लोग व्यक्तिगत रूप से संपर्क में आएंगे। हालांकि सुरक्षा नामुमिकन नहीं है। उन्होंने कहा जिस्मफरोशी के कारोबार को और पहले ही शुरू किया जा सकता था।

                          

बता दें इटली और फ्रांस जैसे पड़ोसी देश होने के बावजूद स्विट्जरलैंड में कोविड-9 के मामले कम होना शुरू हो गए है। 

                         Brisbane sex workers' Fifty Shades of Grey service crackdown ...                        

स्विट्जरलैंड यूरोप का पहला देश है जिसने दुकानों, रेस्तरां और स्कूलों को खोलने की इजाजत दी है। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के उपायों को भी आसान बनाया है। यहां 6 जून से सार्वजनिक सभाएं को भी अनुमति दी जाएगी। 

कमेंट करें
YqrUj