दैनिक भास्कर हिंदी: मसूद अजहर को फिर मिला चीन का साथ, UN में गिरा ग्लोबल आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव

March 14th, 2019

हाईलाइट

  • आतंकी मसूद अजहर पर फैसला आज
  • UNSC में ग्लोबल आतंकी के प्रस्ताव पर आपत्ति का आखिरी दिन
  • आपत्ति न होने पर मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल अतंकी घोषित करने के भारत के प्लान पर फिर पानी फिर गया है। अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा लाए गए प्रस्ताव पर चीन ने अड़गा लगा दिया है। चीन का कहना है कि जैश ए मोहम्मद और मसूद अजहर का कोई कनेक्शन नहीं है।

बता दें कि  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर आपत्ति दर्ज कराने का बुधवार को आखिरी दिन था। यदि रक्षा परिषद का कोई सदस्य मसूद के नाम पर आपत्ति नहीं जताता तो मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की प्रक्रिया शुरू हो जाती। इससे पहले जर्मनी ने भी भारत को अपना साथ दे दिया था।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका ने मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव रखा था। इस प्रस्ताव पर चीन ने अब तक कोई आपत्ति दर्ज नहीं कराई है। चीन का ताजा रुख उसके पुराने रिकॉर्ड से काफी अलग है, इससे पहले वीटो पॉवर का इस्तेमाल कर वो कई बार मसूद को बचा चुका है।

गौरतलब है कि पठानकोट आतंकी हमले के बाद से मसूद अजहर के खिलाफ यह प्रस्ताव चौथी बार लाया गया है। पिछले सभी मामलों में चीन इस प्रस्ताव पर 'तकनीकी रोक' लगा चुका है। जानकारी के मुताबिक चीन का तर्क है कि मसूद अजहर को जेएएम से ताल्लुक रखने के पर्याप्त सबूत या जानकारी नहीं है।

 

 

 

 

खबरें और भी हैं...