इस्लामिक स्टेट की कायराना करतूत: इस्लामिक स्टेट के आतंक से मचा कोहराम, 29 लोगों को उतारा मौत के घाट

January 21st, 2022

हाईलाइट

  • IS के आतंक से इराक और सीरिया में मचा हड़कंप
  • जेलों में अपने साथियों को छुड़ाने के लिए आईएस कर रहे हमले

डिजिटल डेस्क, बगदाद। विश्वभर में अपने खूंखार आतंक के लिए जाना जानें वाला आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट की कायराना हरकत से एक बार फिर इराक और सीरिया में कोहराम मच गया है। आपको बता दें कि IS के खूंखार आतंकियों ने इराक से सीरिया तक एक ही दिन में करीब 29 लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

खबरों के मुताबिक इस्लामिक स्टेट के आतंकी ने गुरूवार को बगदाद के उत्तर में पहाड़ी इलाके में सेना के बैरक पर आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें मौके पर 11 सैनिकों की मौत हो गई थी। इराकी सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने हमला अल-अजीम जिले में किया था, जो दियाला प्रांत में बकूबा के उत्तर में खुला इलाका है।

  इराकी अधिकारियों ने कही ये बात

आपको बता दें कि एसोसिएटेड प्रेस से बात करते हुए इराकी सुरक्षा के दो अधिकारियों ने कहा कि इस्लामिक स्टेट समूह के आतंकवादियों ने स्थानीय समयानुसार तड़के 3 बजे बैरक में घुस गए और सैनिकों की गोली मारकर हत्या कर दी। गौरतलब है कि इस्लामिक स्टेट के आतंकी इससे पहले भी इराकी सैनिकों को निशाना बनाते रहे हैं। माना जा रहा है कि राजधानी बगदाद के उत्तरी इलाके में हुआ हमला हाल में ही हुए महीने भर के हमलों से कहीं बड़ा हमला है। 

IS ने किया जेल पर हमला

आपको बता दें कि इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने अपने साथियों को छुड़ाने के लिए सीरिया की अल-हसाका जेल पर हमला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस हमले में इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों ने कुर्द सुरक्षा बलों को मौत के घाट उतार दिया।

एक मानवाधिकार संगठन के मुताबिक, आईएसआईएस संगठन के लड़ाकों के जेल पर हमले के बाद कुछ कैदी भागने में सफल रहे। सीरिया में कुर्द नेतृत्व वाली अमेरिका समर्थित सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज ने बयान में कहा कि स्वघोषित इस्लामिक आतंकवादी इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों ने अपने साथियों को छुड़ाने के लिए जेल पर हमला किया था। 

जेलों में इस्लामिक स्टेट के इतने संदिग्ध बंद

आपको बता दें कि खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के करीब 12,000 से अधिक संदिग्ध जेलों में बंद हैं। बंदी फ्रांस से लेकर ट्यूनीशिया तक के देशों से हैं, लेकिन उन देशों के अधिकारी सार्वजनिक प्रतिक्रिया के डर से उन्हें वापस नहीं ले रहे हैं। बता दें कि जिन जेलों में संदिग्धों को रखा गया है उत्तर-पूर्वी सीरिया में कुर्द अधिकारियों द्वारा नियंत्रित अर्ध-स्वायत्त क्षेत्र में आईएस लड़ाकों को रखने वाली सबसे बड़ी सुविधाओं में से एक है। आईएस के लड़ाके अपने बंदी साथियों को छुड़ाने के फिराक में रहते हैं और मौका पाते ही हमला करते हैं।


 

खबरें और भी हैं...