comScore

शादी के बाद लड़कियों में आते है यह बदलाव, खूबसूरती से संभालती हैं अपना घर

शादी के बाद लड़कियों में आते है यह बदलाव, खूबसूरती से संभालती हैं अपना घर

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। किसी भी इंसान के लिए शादी... उसकी जिंदगी का सबसे खूबसूरत पल होता है, जो उसकी जिंदगी को बदल कर रख देता है। खासकर लड़कियों के लिए यह पल, उनकी जिंदगी को बदल देने वाला होता है। लड़कियां चाहे कितनी भी वेल सैटेल्ड क्यों न हो। शादी के बाद उन्हें कई सारे एडजेस्टमेंट करने पड़ते हैं। अपने पति के साथ-साथ, उसके घर वालों का भी पूरा ध्यान रखना पड़ता है। आइए जानते हैं वे कौनसी आदतें हैं, जो शादी के बाद लड़कियों की जिंदगी में बदलाव लाती है। 

  • शादी से लड़कियां टेंशन फ्री होती हैं। उन्हें संभालने के लिए उनके भाई और माता पिता होते हैं। लेकिन शादी के बाद पूरे घर की जिम्मेदारी उन पर आ जाती है। वे अपने परिवार के लोगों का ज्यादा ध्यान रखना सीख जाती हैं। वे अपनी खुशियों से पहले परिवार की खुशियों के बारे में सोचती हैं। 
  • शादी के पहले लड़कियों की लाइफ टोटल अलग होती है। लड़कियों के साथ घूमना-फिरना, कई सारे लड़के दोस्त... बस इसी तरह लाइफ को एंजॉय करती हैं। लेकिन शादी के बाद वह अपनी सभी सहेलियों को पीछे छोड़ अपने परिवार को पहल देती है। उसे कहीं घूमने के लिए अपने परिवार और पति के साथ ही जाना पड़ता है।
  • शादी के पहले चाहे लड़की ने चाहे अपनी कितनी भी मर्जी चलाई हो, लेकिन शादी के बाद उसे अपने हर फैसले के लिए पति और परिवार वालों की रजामंदी की जरुरत होती है। साथ ही उनके फैसले का सम्मान भी करना पड़ता है।
  • वहीं शादी के पहले लड़कियों की लाइफ स्टाइल भी बहुत अलग होती है। अपने मनमुताबिक कपड़े पहनना, देर से सोना और उठना, लेकिन शादी के बाद ये सारी आदतें बदलनी पड़ती है। पति और घर वालों के कहे अनुसार चलना पड़ता है। कई जगह तो लड़कियों को जींस और टॉप नहीं बल्कि साड़ी या सूट पहनने को कहा जाता है। लड़कियां खुद में ऐसे बदलाव अपने घर को बहुत ही खूबसूरती से संभाल लेती हैं। 
कमेंट करें
gmLBa
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।