दैनिक भास्कर हिंदी: J&K: पाकिस्तान ने पुंछ में किया सीजफायर उल्लंघन, भारतीय सेना का एक जवान शहीद और दो घायल

June 14th, 2020

हाईलाइट

  • जम्मू कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया
  • पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में एक भारतीय जवान शहीद
  • 2 जवान घायल हो गए जिन्हें उधमपुर के कमांड हॉस्पिटल में इलाज के लिए ले जाया गया

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के पुंछ में लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर देर रात पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में एक भारतीय जवान शहीद हो गया जबकि दो जवान घायल हो गए। घायल जवानों को इलाज के लिए एयरलिफ्ट कर उधमपुर के कमांड हॉस्पिटल में ले जाया गया है। भारतीय सेना भी पाकिस्तान की तरफ से हो रही गोलीबारी का माकूल जवाब दिया।

क्या कहा पुंछ SSP ने?
पुंछ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रमेश कुमार अनगरल (Ramesh Kumar Angral) ने कहा कि 29 वर्षीय सिपाही लुंगाबुई अबोनमली (Lungabui Abonmli) शाहपुर-किरनी सेक्टर में गोलीबारी में शहीद हो गए। सिपाही लिंखोथिन सेंघोन (Lienkhothien Senghon) और टैंगसेइक क्वानिउंगर (Tangsoik Kwianiungar) घायल हो गए। अनगरल ने बताया कि घायल सैनिकों को आगे के इलाज के लिए रात 1:30 बजे उधमपुर के कमांड अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी जवान असम रेजिमेंट की 10वीं बटालियन के हैं।

गुरुवार को शहीद हुआ एक जवान
इसस पहले गुरुवार को भी राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा के किनारे बसे गांवों और आगे की चौकियों पर भारी गोलाबारी के दौरान सेना का एक जवान शहीद और एक नागरिक घायल हो गया था। इस फायरिंग का जवाब देते हुए भारती सेना ने पाकिस्तान की कई चौकियों को तबाह कर दिया था। वहीं 4 जून को भी पाकिस्तान की तरफ से राजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में की गई फायरिंग में हवलदार पी मथिआजगन ने अपनी जान गंवा दी थी।

आतंकियों की घुसपैठ के लिए पाक करता है फायरिंग
बता दें कि दोनों देशों के बीच लंबे समय से हालात तनावपूर्ण बने हुए है। जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने के बाद से दोनों देशों के संबंध और भी ज्यादा बिगड़ गए हैं। पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश में जुटा हुआ है। सेना के सूत्रों ने कहा, जहां-जहां ऐसे प्रयास हुए हैं, वहां-वहां संघर्ष विराम उल्लंघन हुआ और भारी गोलाबारी के साथ घुसपैठ की कोशिश की गई। सभी जगह पैटर्न समान है।

2020 में संघर्ष विराम उल्लंघन
-जनवरी-367

-फरवरी-366

-मार्च-411

-अप्रैल-387 

-मई-382 

-जून-114 

खबरें और भी हैं...