दैनिक भास्कर हिंदी: तकनीकि शिक्षा के 46 प्रोग्राम एक साथ ऑनलाइन, 70 हजार शिक्षकों को ट्रेनिंग

November 24th, 2020

हाईलाइट

  • तकनीकि शिक्षा के 46 प्रोग्राम एक साथ ऑनलाइन, 70 हजार शिक्षकों को ट्रेनिंग

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अखिल भारतीय तकनीकि शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के 46 डेवलपमेंट फैकल्टी प्रोग्राम (एफडीपी) को एक साथ ऑनलाइन जोड़ा गया है। एआईसीटीई ट्रेनिंग एंड लर्निग (अटल) अकादमी के इन डेवलपमेंट प्रोग्राम का उदघाटन केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने किया। इसके साथ ही 500वीं अटल एफडीपी (फैकल्टी डिवेलपमेंट प्रोग्राम) की शुरूआत होगी।

कोरोना महामारी के इस चुनौतीपूर्ण समय में एआईसीटीई से जुड़े शिक्षकों के कौशल में सुधार के लिए अब तक 499 ऑनलाइन एफडीपी आयोजित किए जा चुके हैं। इसमें देश के उच्च तकनीकी शिक्षण संस्थानों के 70 हजार से ज्यादा शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। गौरतलब है कि 1000 ऑनलाइन एफडीपी की योजना बनाई गई है, जिससे एक लाख प्रतिभागियों को लाभ होगा। एआईसीटीई के अध्यक्ष प्रोफेसर अनिल सहस्रबुद्धे उपस्थित थे।

इस अवसर पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा, मुझे खुशी है कि तकनीकि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार को बढ़ावा देने के लिए अखिल भारतीय तकनीकि शिक्षा परिषद हमेशा तत्पर रहा है। फैकल्टी के समग्र विकास के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है। पूरे देश में अटल अकादमी द्वारा स्वीकृत संस्थानों एवं अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों के फैकल्टी मेंबरों को प्रेरित करने और प्रशिक्षित करने के लिए यह एक अनूठी पहल है। उन्होनें बताया कि यह सभी फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम देश भर में आईआईटी, एनआईटी, आईआईआईटी, एनआईटीटीटीआर और कुछ अन्य संस्थानों द्वारा संचालित किये जाएंगे।

इस कार्यक्रम की सफलता पर डॉ. निशंक ने कहा, अटल अकादमी का वर्तमान आकार देखकर बेहद खुशी हो रही है, क्योंकि सितंबर 2019 में 11 अटल अकादमियों की घोषणा की गई थी और इस वर्ष लगभग 1000 से अधिक ऑनलाइन अटल अकादमी एफडीपी की योजना है। 1 लाख प्रतिभागियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। यह बेहद गर्व की बात है कि अटल अकादमी का नाम वल्र्ड बुक रिकार्डस में शामिल किया जाएगा। उन्होने कहा कि शिक्षा पर सीधा सीधा प्रभाव डालने वाली ऐसी किसी भी योजना से जुड़ना बेहद खुशी की बात है। इसके अलावा उन्होंने नई शिक्षा नीति में शिक्षकों के प्रशिक्षण के प्रावधानों के बारे में भी सबको अवगत करवाया।

खबरें और भी हैं...