comScore

जबलपुर में सामने आया उना जैसा पिटाई कांड, दहल जाएंगे आप VIDEO

July 14th, 2018 21:52 IST

हाईलाइट

  • डीजल चोरी के आरोप में दलित कर्मचारियों को नग्न कर पीटा।
  • सरेराह निर्वस्त्र कार पीटे जाने का वीडियो बनाकर उसे वायरल भी कर दिया।
  • पुलिस ने दिए जांच के आदेश।

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। गुजरात के उना में दलितों की पिटाई का दिल दहला देने वाला मामला तो आपको याद ही होगा। कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है, मध्य प्रदेश के जबलपुर से। जहां डीजल चोरी के आरोप में डंपर मालिक ने 3 दलित-आदिवासी कर्मचारियों को नग्न कर बेरहमी से पीटा। डंपर मालिक गुड्डू शर्मा ने बेसबॉल और पाइप से कर्मचारियों के जिस्म को छील दिया। पिटाई से जब मन नहीं भरा तो वीडियो भी वायरल कर दिया। वीडियो सामने आने के बाद आरोपी की गिरफ्तारी की मांग हो रही है, मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी पिटाई कांड को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया है।

डम्पर से डीजल चुराने वाले 3 चालकों एवं कंडक्टरों के कपड़े उतार कर उनकी बेरहमी से पिटाई का वीडियो वायरल होने के मामला सामने आने के बाद धनवंतरी नगर पुलिस चौकी ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। जिन लोगों को निर्वस्त्र करके पिटाई की गई है उनकी संख्या तीन बताई जा रही है। एक कर्मचारी जिसका नाम रमेश गोंड बताया गया है, वह मौका पाकर भागने में सफल हो गया। एएसपी राजेश तिवारी ने कहा कि इस मामले में पुलिस ने जांच भी शुरू कर दी है। दोषी पाए जाने पर संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
 

कांग्रेस ने सरकार को कटघरे में खड़ा किया

पिटाई का वीडियो सामने आने के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस ने शिवराज सरकार से तीखे सवाल पूछे हैं। 

डीजल चोरी के आरोप में की पिटाई


इस मामले में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की गई है है कि अंधमूक बायपास पर स्थित मार्केट में शुक्रवार रात को चार कर्मचारियों को डम्पर से डीजल चुराने के आरोप में उनके मालिक गुड्डू शर्मा ने पकड़ा था। उन्हीं के कर्मचारियों ने डीजल चोरी के मामले में उक्त चारों कर्मचारियों को अंधमूक बायपास के मार्केट में ले जाकर जब उनके कपड़े उतरवाए। इस दौरान रमेश नामक कर्मचारी भाग निकलने में सफल हो गया। बाकी के तीन कर्मचारियों की बेसबाल के डंडे एवं पाइप से पिटाई शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि कर्मचारियों ने गिड़गिड़ाकर अपने कपड़े नहीं उतारने के लिए कहा, लेकिन जिस अमानवीय ढंग से कर्मचारियों को मारा गया उसका वीडियो वायरल भी कर दिया गया।

वायरल होने के बाद पुलिस भी सक्रिय हुई और सबसे पहले धनवंतरी नगर पुलिस चौकी में तैनात अरुणा वाहने ने अंधमूक बायपास के मार्केट में जाकर उस स्थल की तस्दीक की है, जहां पर कर्मचारियों की पिटाई की गई थी। डम्पर मालिक की अमानवीयता का शिकार हुए तीनों कर्मचारी दलित हैं।

कमेंट करें
gTVcJ