दैनिक भास्कर हिंदी: केजरीवाल का ऐलान- 2019 में महागठबंधन का हिस्सा नहीं होगी AAP

August 10th, 2018

हाईलाइट

  • आम आदमी पार्टी ने ये साफ कर दिया है कि वह महागठबंधन में शामिल नहीं होगी।
  • अरविंद केजरीवाल ने कहा, जो पार्टियां संभावित महागठबंधन में शामिल हो रही हैं, उनकी देश के विकास में कोई भूमिका नहीं रही है।
  • केजरीवाल ने कहा, उनकी पार्टी हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा की सभी सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को टक्कर दने के लिए महागठबंधन तैयार किया जा रहा है। हालांकि अभी ये साफ नहीं है कि कौन-कौन से दल इसका हिस्सा होंगे। इस बीच आम आदमी पार्टी ने ये साफ कर दिया है कि वह महागठबंधन में शामिल नहीं होगी। गुरुवार को हरियाणा के जिंद में एक कार्यक्रम के दौरान आम आदमी पार्टी संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस बात का ऐलान किया।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, जो पार्टियां संभावित महागठबंधन में शामिल हो रही हैं, उनकी देश के विकास में कोई भूमिका नहीं रही है। केजरीवाल ने कहा, उनकी पार्टी हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा की सभी सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि 2019 में वे किसी भी प्रकार के महागठबंधन या अन्य गठबंधन का हिस्सा नहीं बनेंगे।

केजरीवाल का यह ऐलान राजनीतिक गलियारे के लिए थोड़ा अप्रत्याशित जरूर है। ऐसा इसलिए क्योंकि अक्सर AAP ने खुद को एनडीए के खिलाफ विपक्षी एकजुटता के साथ दिखाने की कोशिश की है। केजरीवाल के इस नए स्टैंड के मायने यह निकाले जा रहे हैं कि शायद वह अपने कोर वोटर्स को अपने पुराने ऐंटी कांग्रेस और ऐंटी बीजेपी स्टैंड की याद दिला रहे हैं। ऐसा इसलिए भी ताकि नए किले भेदने के चक्कर में कहीं गढ़ ही हाथ से न निकल जाए।

हालांकि इससे पहले कई मोर्चों पर आम आदमी पार्टी ये संदेश देने का कोशिश करती रही है कि वह केंद्र सरकार के खिलाफ लड़ाई में अन्य दलों के साथ है। कर्नाटक में कुमारस्वामी की ताजपोशी और फिर जंतर-मंतर पर तेजस्वी के धरने को आम आदमी पार्टी ने समर्थन दिया था। वहीं राज्यसभा उपसभापति चुनाव से पहले आप नेता संजय सिंह ने कहा था कि कांग्रेस की तरफ से समर्थन नहीं मांगा गया है इसलिए उनकी पार्टी वोटिंग से बाहर रहेगी। गुरुवार को ऐसा ही देखने को भी मिला।