दैनिक भास्कर हिंदी: श्रीलंका ब्लास्ट : इंडियन कोस्ट गार्ड हाई अलर्ट पर, कोच्चि नेवल बेस पर भी बढ़ाई सुरक्षा

April 23rd, 2019

हाईलाइट

  • श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों के बाद भारतीय कोस्ट गार्ड को श्रीलंका के साथ समुद्री सीमा पर हाई अलर्ट पर रखा गया है।
  • कोच्चि में नेवल बेस के आसपास भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
  • ऐसी आशंका जताई जा रही है कि हमलावर समुद्री मार्ग के जरिए द्वीप राष्ट्र से बचने की कोशिश कर सकते हैं।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ईस्टर के मौके पर रविवार को श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों के बाद भारतीय कोस्ट गार्ड को श्रीलंका के साथ समुद्री सीमा पर हाई अलर्ट पर रखा गया है और कोच्चि में नेवल बेस के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है। कोस्ट गार्ड ने समुद्री सीमा पर कई जहाजों को तैनात किया है और डॉर्नियर्स विमान संदिग्ध नौकाओं की पहचान करने के लिए निगरानी कर रहे हैं। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि हमलावर समुद्री मार्ग के जरिए द्वीप राष्ट्र से बचने की कोशिश कर सकते हैं।

श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्री और सरकार के प्रवक्ता रजिता सेनारत्ने के उस बयान के बाद भारतीय कोस्ट गार्ड ने सुरक्षा बढ़ाई है जिसमें उन्होंने कहा था कि स्थानीय कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन नेशनल तौहीद जमात बम धमाकों की साजिश रचने में शामिल हो सकता है। एक कोस्ट गार्ड अधिकारी ने कहा कि तूतिकोरिन, मंडपम और कराईकल में कोस्ट गार्ड स्टेशनों से सभी जहाजों को निगरानी के लिए सेवा में तैनात किया गया है। उधर कोच्चि स्थित दक्षिणी नौसेना कमान के पास भी सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है, जो भारतीय नौसेना के तीन मुख्य स्वरूपों में से एक है।

26/11 के मुंबई आतंकवादी हमलों की पुनरावृत्ति से बचने के लिए कोस्ट गार्ड अतिरिक्त सावधानी बरत रहा हैं। मुंबई में एक दशक पहले लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के आतंकवादियों ने पाकिस्तान से समुद्री मार्ग के जरिए देश की वित्तीय राजधानी में प्रवेश किया था और शहर भर में धमाके और गोलीबारी की थी। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (सीएसटी) रेलवे स्टेशन, कामा अस्पताल, नरीमन हाउस व्यवसाय और आवासीय परिसर, लियोपोल्ड कैफे, ताज महल होटल और टॉवर और मुंबई के ओबेरॉय-ट्राइडेंट होटल में कई हमले हुए थे। इसमें 166 लोग मारे गए थे और 300 से अधिक घायल हुए थे। 

बता दें कि रविवार को ईस्टर के मौके पर चर्च और होटल में हुए धमाकों में अब तक 290 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। इनमें जेडीएस के 4 नेताओं समेत 6 भारतीय शामिल हैं। 33 विदेशी नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि हुई हैउधर, सोमवार को भी कोलंबो में एक चर्च के पास वैन में विस्फोट हुआ। ये विस्फोट तब हुआ जब स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) और वायुसेना का एक दस्ता बम को डिफ्यूज करने की कोशिश कर रहा था। इसके अलावा श्रीलंका पुलिस को कोलंबो के मुख्य बस स्टेशन पर 87 बम डेटोनेटर भी मिले है।

खबरें और भी हैं...