दैनिक भास्कर हिंदी: पाकिस्तान को मिले राफेल विमान! राजदूत जीगलर ने कहा- फर्जी है खबर

April 12th, 2019

हाईलाइट

  • फ्रांस के राजदूत ऐलेक्जेंडर जीगलर ने पाकिस्तान को राफेल दिए जाने के दावे को खारिज कर दिया है।
  • रिपोर्ट में कहा गया था कि फ्रांस ने मई 2015 में हुई 24 राफेल विमान की डील के तहत पहला खेमा सौंपा है।
  • भारत में राफेल को लेकर विवाद लंबे समय से जारी है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। फ्रांस के राजदूत ऐलेक्जेंडर जीगलर ने पाकिस्तान को राफेल दिए जाने के दावे को खारिज कर दिया है। जीगलर ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह फर्जी खबर है। बता दें कि कुछ समय पहले एक मीडिया रिपोर्ट ने दावा किया था कि कतर को राफेल विमानों का पहला जखीरा सौंप दिया गया है। जिस पर पाकिस्तानी अधिकारीयों ने प्रशिक्षण लिया रिपोर्ट के सार्वजनिक होने के बाद से ही भारत में भी तनाव का दौर शुरू हो गया था। कांग्रेस के मीडिया प्रवक्ता रचित सेठ ने इसे भारत के लिए खतरनाक बताया था।

भारत में राफेल विमान मुद्दा पहले से गर्माया हुआ है। देश की कई बड़ी पार्टियां एनडीए सरकार पर विमान खरीदी में घोटाला करने का आरोप लगा रही हैं। ऐसे में पाकिस्तान को राफेल विमान मिलने की खबर ने भारत में सियासी गलियारों से लेकर सेना में खलबली मचा दी थी। आज फ्रांस के राजदूत ऐलेक्जेंडर जीगलर ने ट्वीट कर सभी दावों को फर्जी करार दिया है। 

क्या था रिपोर्ट में
रिपोर्ट में कहा गया था कि फ्रांस ने मई 2015 में हुई 24 राफेल विमान की डील के तहत पहला खेमा सौंपा है। यह डील 6.3 बिलियन की थी। रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि कतर को मिले राफेल विमानों पर पाकिस्तानी अधिकारियों ने प्रशिक्षण लिया था।

भारत में जारी है विवाद
भारत में राफेल को लेकर विवाद लंबे समय से जारी है। विपक्ष लगातार सत्तारूढ़ भाजपा पर घोटाला करने का आरोप लगा रहा है। गौरतलब है कि भारत ने फ्रांस के साथ 36 विमानों के लिए 58 हजार करोड़ रुपए की डील की थी। 

खबरें और भी हैं...