दैनिक भास्कर हिंदी: आतिश अली का OCI कार्ड हुआ रद्द, PM मोदी को बताया था 'डिवाइडर इन चीफ'

November 8th, 2019

हाईलाइट

  • भारत सरकार ने आतिश अली का OCI कार्ड रद्द किया
  • आतिश ने अपने स्वर्गीय पिता के पाकिस्तानी मूल के होने की जानकारी छिपाई थी
  • पत्रिका 'टाइम' के अपने लेख में PM मोदी को बताया था भारत का 'डिवाइडर इन चीफ'

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत सरकार द्वारा लेखक और पत्रकार आतिश अली तासीर का ओवरसीज सिटीजनशीप ऑफ इंडिया (OCI) कार्ड रद्द कर दिया गया है। ब्रिटेन में जन्मे आतिश अली का OCI कार्ड अपने स्वर्गीय पिता के पाकिस्तानी मूल के होने की जानकारी छिपाने के कारण रद्द किया गया है। गृह मंत्रालय ने भी गुरूवार को इस कार्ड के लिए आतिश को अयोग्य ठहराया है। बता दें कि आतिश ने अपने एक लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत का 'डिवाइडर इन चीफ' बताया था।

 

 

दरअसल आतिश के दिवंगत पिता सलमान तासीर पाकिस्तानी थे, जिसकी जानकारी आतिश ने भारत सरकार से छिपा रखी थी। इस बात कि जानकारी उन्होंने OCI कार्ड का आवेदन जमा करते हुए भी नहीं दी थी। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता द्वारा बताया गया कि नागरिकता अधिनियम 1955 के अनुसार, आतिश OCI कार्ड के लिए अयोग्य हो चुके हैं क्योंकि यह कार्ड ऐसे व्यक्ति को जारी नहीं किया जाता, जिसके माता-पिता या दादा-दादी पाकिस्तान मूल के हों और आतिश ने बहुत ही बुनियादी आवश्यकताओं और छिपी जानकारी का अनुपालन नहीं किया।

 

 

 

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि आतिश को अपने OCI कार्ड के बारे में अपना उत्तर और आपत्तियाँ प्रस्तुत करने का अवसर भी दिया गया था, लेकिन वह नोटिस पर विवाद करने में विफल रहे। इस पर आतिश का कहना है कि उन्हें अपना जवाब देने के लिए सरकार द्वारा पर्याप्त समय ही नहीं दिया गया।

 

 

 

क्या है OCI कार्ड ?

बता दें कि OCI कार्ड भारतीय मूल के विदेशियों को भारत आने, यहां रहने और काम करने का अधिकार देता है। इसके अलावा उन्हें वोट देने और संवैधानिक पद प्राप्त करने जैसे कुछ अन्य अधिकार नहीं दिए जाते हैं। वहीं नागरिकता अधिनियम के मुताबिक यदि कोई व्यक्ति धोखे से OCI कार्ड प्राप्त करता है तो तो उस व्यक्ति का रजिस्ट्रेशन रद्द करके ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाता है। साथ ही उस व्यक्ति पर हमेशा के लिए भारत में प्रवेश करने के लिए प्रतिबंध लगा दिया जाता है।

अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट 'द प्रिंट' ने गुरुवार को अपनी एक स्टोरी में लिखा था कि 'टाइम पत्रिका में मोदी की आलोचना वाले लेख के बाद सरकार लेखक आतिश का OCI कार्ड रद्द करने के लिए विचार कर रही है।' इस पर गृह मंत्रालय ने आपत्ति जताते हुए कहा कि 'द प्रिंट' द्वारा लिखी गई यह स्टोरी पूर्ण रूप से गलत और तथ्यहीन है।

 

 

बता दें कि आतिश तासीर ने अमरीका की प्रतिष्ठित पत्रिका 'टाइम' के इस साल के मई अंक में पीएम मोदी पर एक लेख लिखा था। इस पत्रिका के 20 मई 2019 वाले अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पेज पर छपे आतिश के लेख के शीर्षक में पीएम मोदी की तस्वीर के साथ 'India's Divider In Chief' लिखा गया था। जिसके बाद इस लेख और उसके शीर्षक को लेकर भारत में काफी विवाद भी हुआ था।

खबरें और भी हैं...