comScore

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम : बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के घर CBI का छापा

August 17th, 2018 14:00 IST
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम : बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के घर CBI का छापा

हाईलाइट

  • बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने इस्तीफा दे दिया है।
  • मंजू के पति चन्द्रशेखर वर्मा का नाम मुजफ्फपुर बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से जुड़ा था।
  • चंद्रशेखर पर आरोप है कि वो रात में बालिका गृह भी जाते थे।

डिजिटल डेस्क, पटना। मुजफ्फपुर बालिका गृह कांड मामले की पड़ताल करते हुए सीबीआई ने बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पटना और बेगूसराय स्थित ठिकानों पर शुक्रवार को छापा मारा। मंजू के पति चन्द्रशेखर वर्मा का नाम मुजफ्फपुर बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से जुड़ा होने के चलते लगातार मंजू वर्मा पर भी आरोप लग रहे हैं। ब्रजेश ठाकुर और चंद्रशेखर को लेकर खुलासा हुआ था कि दोनों के बीच जनवरी से अब तक करीब 17 बार फोन पर बातचीत हुई है। इतना ही नहीं चन्द्रशेखर पर आरोप है कि वो रात में बालिका गृह भी जाते थे।


इस्तीफा दे चुकी हैं मंजू वर्मा
बिहार सरकार में समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पती का नाम शेल्टर होम कांड में आने के बाद से ही वो लगातार विपक्ष के निशाने पर हैं। उन्हे विपक्ष के दबाव में मंत्री पद से इस्तीफा भी देना पड़ा। घटना के बाद मंजू वर्मा ने कहा, उन्होंने इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि विपक्ष और मीडिया उन पर दबाव बना रहा था। उन्होंने कहा सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है। CBI और न्यायालय पर उन्हें पूरा भरोसा है। मंजू ने कहा 'मैं डंके की चोट पर कहती हूं कि मेरे पति निर्दोष हैं।' रसूखदारों को बचाने के लिए मेरे पति के खिलाफ साजिश की जा रही है। मेरे पति राजनीतिक कार्यकर्ता है और समाजिक जीवन जी रहे हैं। समय आने पर मेरे पति सामने आएंगे। मंजू ने ये भी कहा कि सीडीआर रिपोर्ट के आधार पर उनके पति के खिलाफ आरोप लगाए जा रहे है। इस रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाना चाहिए ताकि पता चल सके कि मुख्य आरोपी ब्रजेश किन किन लोगों से बात करता था।

क्या कहा था नीतीश कुमार ने?
इससे पहले बिहार सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि किसी को अकारण जिम्मेदार ठहराकर इस्तीफ़ा कैसे लिया जा सकता है, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि अगर कुछ भी साक्ष्य सामने आता है तो वो इस्तीफ़ा लेने में देर नहीं करेंगे। वहीं बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी मंजू वर्मा के समर्थन में थे जबकि बिहार बीजेपी के बड़े नेता सीपी ठाकुर ने नीतीश सरकार में मंत्री मंजू वर्मा को हटाने की मांग की थी।

कोर्ट में पेश हुआ ब्रजेश
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और 10 अन्य आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को विशेष पॉक्सो कोर्ट में पेश किया। पेशी के दौरान मीडिया से बात करते हुए ब्रजेश ने कहा कि उसके खिलाफ अभी तक किसी बच्ची ने कोई बयान नहीं दिया है। ब्रजेश ने बताया कि वो कांग्रेस में शामिल होने वाला था और मुजफ्फरपुर से चुनाव लड़ने के लिए उसका टिकट भी लगभग फाइनल हो चुका था।

क्या है मामला?
मुजफ्फरपुर के एक शेल्टर होम में 34 बच्चियों से रेप की बात सामने आई थी। लड़कियों के साथ हुई इस दरिंदगी का खुलासा मुंबई स्थित टाटा इन्स्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस की रिपोर्ट में हुआ था। मामला सामने आने के बाद शेल्टर होम को संचालित करने वाले गैर-सरकारी संगठन (NGO) को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया। इस मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर समेत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। CBI इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

कमेंट करें
j94IX
कमेंट पढ़े
Amarendra Kumar October 02nd, 2018 03:15 IST

CBI ki jach chiti ki chal se hoti h aur Apradhi frari se bhagate h. ek baby ko a v tak enshaf nahi Mila yeha to kae anath baby h.

NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।