comScore

बिम्सटेक राष्ट्रों ने की मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की पुष्टि

बिम्सटेक राष्ट्रों ने की मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की पुष्टि

हाईलाइट

  • बिम्सटेक नेताओं ने मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की पुष्टि की
  • विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने सोमवार को इसे लेकर बयान जारी किया
  • BIMSTEC देशों में भारत के अलावा बांग्लादेश, भूटान, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका और थाईलैंड हैं

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बिम्सटेक सदस्य-राज्यों के नेताओं ने 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की पुष्टि कर दी है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने सोमवार को इसे लेकर बयान जारी किया। मॉरीशस के प्रधानमंत्री, प्रवीण कुमार जुगनौत के साथ किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सोरांबने जेनेबकोव भी समारोह में शामिल होंगे।

बे ऑफ़ बंगाल इनिशिएटिव फ़ॉर मल्टी-सेक्टरल टेक्निकल एंड इकनॉमिक कोऑपरेशन (BIMSTEC) के सदस्य देशों में भारत के अलावा बांग्लादेश, भूटान, म्यांमार, नेपाल, श्रीलंका और थाईलैंड शामिल हैं। पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में बांग्लादेश के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमीद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना, म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन म्यिंट, भूटान के प्रधानमंत्री लोटे तशेरिंग, नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली, और थाईलैंड के विशेष दूत ग्रिसडा बूनराच नई दिल्ली आएंगे। रवीश कुमार के अनुसार, नेताओं को समूह से आमंत्रित करने का निर्णय सरकार की 'नेबरहुड फर्स्ट' नीति के तहत लिया गया है।

इसके अलावा, तमिल सिनेमा के टॉप स्टार - रजनीकांत और कमल हासन को भी भव्य आयोजन के लिए आमंत्रित किया गया है, जो राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को केंद्रीय मंत्रिपरिषद के पद और गोपनीयता की शपथ दिलाते हुए भी देखेंगे। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव और आंध्र प्रदेश के भावी सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी के भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की संभावना है।

नरेंद्र मोदी 30 मई को शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पीएम और केंद्रीय मंत्रिपरिषद के अन्य सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। केंद्रीय मंत्रिमंडल की सिफारिश पर 16वीं लोकसभा को भंग करने के बाद, राष्ट्रपति कोविंद ने शनिवार शाम को मोदी को दूसरे कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया था।

2014 में, नरेन्द्र मोदी ने अपने शपथ ग्रहण समारोह के लिए पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ सहित सभी सार्क नेताओं को आमंत्रित किया था। 2014 में राष्ट्रपति भवन के फोरकोर्ट में लगभग 2,000 लोगों के साथ शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया था।


 

कमेंट करें
oUCmQ