comScore

केंद्र में हमारी सरकार होने से SC ने हमारे पक्ष सुनाया अयोध्या फैसला : भाजपा नेता

केंद्र में हमारी सरकार होने से SC ने हमारे पक्ष सुनाया अयोध्या फैसला : भाजपा नेता

हाईलाइट

  • सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले पर भाजपा नेता मनसुखभाई वसावा का विवादित बयान
  • SC को भाजपा के केंद्र में होने के कारण हमारे पक्ष में फैसला देना पड़ा : मनसुखभाई
  • पीएम मोदी ने कहा था 'फैसले को किसी की जीत या हार न मानी जाए'

डिजिटल डेस्क, भरूच। गुजरात के भरूच जिले के सांसद और भारतीय जनता पार्टी के नेता मनसुखभाई वसावा ने सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले पर एक विवादित बयान दिया है। वसावा ने स्पष्ट रूप से अयोध्या में राम मंदिर का रास्ता साफ होने का श्रेय भाजपा को दे दिया। उन्होंने अपने बयान में बताया कि केंद्र में हमारी यानी भाजपा की सरकार है, इसलिए सुप्रीम कोर्ट को हमारे पक्ष में फैसला सुनाना पड़ा।

बता दें कि स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले और बाद में यही कहा था कि कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले को किसी की भी हार या जीत की नजर से न देखें। अब पीएम मोदी की ही पार्टी के नेता ने इस फैसले को भाजपा और हिन्दुओं की जीत करार देकर अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मार ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भाजपा सांसद मनसुखभाई ने कहा कि 'अयोध्या विवाद बहुत पुराना मुद्दा था, कितने साल बीत गए। देश आजाद भी नहीं हुआ था, तब से राम जन्मभूमि पर आंदोलन होते रहे। कितने लोग शहीद हुए और न जाने कितने आंदोलन चलाए गए, लेकिन भाजपा की सरकार के केंद्र में होने के कारण ही इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट को हमारे पक्ष (हिन्दू/भाजपा) में फैसला देना पड़ा।'

दशकों से चल रहे अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर को अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाया। कोर्ट ने जमीन पर मालिकाना हक रामलला को दिया। वहीं मुस्लिम पक्ष को कहीं और 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाएगी। बता दें कि कोर्ट ने मंदिर निर्माण की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार को देते हुए तीन महीने में स्कीम तैयार करने का आदेश दिया है। सरकार 3 महीने में मंदिर निर्माण और प्रबंधन के लिए ट्रस्ट बनाएगी, उसमें निर्मोही को भी कुछ प्रतिनिधित्व मिलेगा। यह फैसला 5 जजों की बेंच द्वारा सर्वसम्मति से दिया गया था।

कमेंट करें
SCUtL