दैनिक भास्कर हिंदी: गोवा में राजनीतिक संकट के बीच अमित शाह ने बुलाई बीजेपी नेताओं की बैठक

September 19th, 2018

हाईलाइट

  • गोवा में राजनीतिक संकट।
  • अमित शाह ने बुलाई बीजेपी नेताओं की बैठक।
  • गोवा के राजनीतिक हालात की समीक्षा के लिए बीजेपी की बैठक।
  • इलाज के लिए एम्स में भर्ती हैं गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर।
  • कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने का दावा किया है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गोवा में राजनीतिक संकट के बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को बीजेपी नेताओं की बैठक बुलाई है। गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर के अस्पताल में भर्ती होने के बाद कांग्रेस ने राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया है। कांग्रेस की ओर से पर्रिकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए सदन का विशेष सत्र बुलाने की मांग के बाद से बीजेपी में हलचल तेज हो गई है। राजनीतिक हालात की समीक्षा के लिए अमित शाह ने अहम बैठक बुलाई है।


गोवा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी

गोवा में कांग्रेस ने बुधवार को दावा किया है, उसे 21 से ज्यादा विधायकों का समर्थन प्राप्त है। 40 सदस्यीय विधानसभा में सरकार बनाने के लिए वे मजबूत स्थिति में हैं। कांग्रेस 16 विधायकों के साथ गोवा में सबसे बड़ी पार्टी है। इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस विधायकों ने गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात कर उनसे बीजेपी सरकार को विधानसभा में बहुमत साबित करने का निर्देश देने के लिए कहा था। यह कदम ऐसे समय उठाया गया है जब सीएम पर्रिकर अग्नाशय की बीमारी का इलाज कराने के लिए दिल्ली एम्स में भर्ती हैं।  


विधानसभा भंग नहीं होने देने की अपील

गोवा में विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस विधायकों ने मांग की है कि राज्यपाल को विधानसभा का एकदिवसीय सत्र बुलाकर बहुमत साबित करवाना चाहिए। कावलेकर ने बताया, राज्यपाल ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह तीन-चार दिनों में इस मुद्दे पर उन्हें अवगत कराएंगी। कांग्रेस विधायकों ने राज्यपाल से विधानसभा भंग नहीं होने देने की भी अपील की है, क्योंकि राज्य में पिछले साल फरवरी में ही विधानसभा चुनाव हुए थे।


बीजेपी नेताओं से लगातार संपर्क कर रहे अमित शाह  

वहीं मनोहर पर्रिकर को दिल्ली एम्स में लाए जाने के तुरंत बाद ही बीजेपी ने महासचिव संगठन रामलाल और वरिष्ठ नेता बीएल संतोष को गोवा में अपने विधायकों और सहयोगियों से मिलने के लिए भी भेजा था। कांग्रेस की तरफ से राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद अमित शाह ने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई से फोन पर बात की है।

धावलीकर को कार्यभार सौंपने से कई दलों में नाराजगी 

दरअसल, पर्रिकर के शनिवार को एम्स में भर्ती होने के बाद सुदिन धावलीकर को डिप्टी सीएम का पद दिया था, जिसे सरदेसाई की पार्टी ने मानने से इनकार कर दिया था। पर्रिकर ने शनिवार को दिल्ली जाने से पहले महाराष्ट्र गोमंतक पार्टी (MGP) के धावलीकर को कार्यभार सौंपा था। जिसकी वजह से राज्य में बीजेपी के अन्य घटक दलों में नाराजगी है। गोवा फॉरवर्ड पार्टी और बीजेपी का सपोर्ट कर रहे अन्य दलों ने इस पर नाराजगी जताई है। इन दलों की मांग है किसी अन्य को स्थायी व्यवस्था के तौर पर कार्यभार दिया जाए। ऐसा कहा जा रहा है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह नए विकल्पों के साथ गठबंधन के दलों के पास जाएंगे।


बीजेपी को 6 विधायकों का समर्थन

जानकारी के मुताबिक, रविवार को विजय सरदेसाई और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के दो अन्य विधायकों के साथ तीन निर्दलीय विधायकों ने बीजेपी के केंद्रीय पर्यवेक्षकों से मुलाकात की थी। राज्य में बीजेपी को 6 विधायकों का समर्थन प्राप्त है, जिसमें तीन गोवा फॉरवर्ड पार्टी के हैं और तीन निर्दलीय।