comScore

जेएनयू में 13 जनवरी से शुरू होंगी कक्षाएं, बाहर गए छात्रों को लौटने को कहा

January 11th, 2020 21:30 IST
 जेएनयू में 13 जनवरी से शुरू होंगी कक्षाएं, बाहर गए छात्रों को लौटने को कहा

हाईलाइट

  • जेएनयू में 13 जनवरी से शुरू होंगी कक्षाएं, बाहर गए छात्रों को लौटने को कहा

नई दिल्ली, 11 जनवरी (आईएएनएस)। जवाहरल लाल नेहरू विश्वविद्यालय ने 13 जनवरी से विश्वविद्यालय में कक्षाएं प्रारंभ करने का फैसला लिया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय को इसकी आधिकारिक जानकारी दी है। साथ ही जेएनयू प्रशासन ने शनिवार को इस बाबत छात्रों के लिए एक नोटिस जारी किया। नोटिस में सभी छात्रों को सोमवार से अपनी कक्षाओं में लौटने को कहा गया है।

इस नोटिस में दिल्ली से बाहर गए छात्रों को भी लौट आने को कहा गया है।

वहीं जेएनयू छात्र संघ ने इसके जवाब में पंजीकरण प्रक्रिया का पूरी तरह बहिष्कार करने का फैसला लिया है। छात्रसंघ अध्यक्ष आईषी घोष व अन्य सभी प्रतिनिधियों ने छात्रों से शीतकालीन सत्र के बहिष्कार करने की अपील की है। छात्र संघ ने छात्रों से एकजुट एकजुट रहने की अपील की है। छात्रसंघ का कहना है कि लाईफ साइंस जैसे विषय पर शोध कर रहे 50-60 छात्रों ने ही अभी तक शीतकालीन सत्र के लिए पंजीकरण कराया है। छात्रों का कहना है कि कुलपति एम जगदीश कुमार बढ़ी हुई फीस वापस लें।

छात्रों के विरोध को देखते हुए जेएनयू प्रशासन ने शनिवार को एक नोटिस जारी कर दिया। नोटिस की कॉपी मानव संसाधन मंत्रालय को भी भेजी गई है। सह रजिस्ट्रार मनोज कुमार द्वारा जारी इस नोटिस में कहा गया है सभी छात्रों को सूचित किया जाता है कि विश्वविद्यालय में कक्षाएं व सभी स्कूल्स एवं विशेष केंद्रों में शैक्षणिक गतिविधियां सोमवार से प्रारंभ की जा रही हैं।

प्रशासन ने नोटिस के माध्यम से बताया कि शीतकालीन सत्र के लिए पंजीकरण प्रक्रिया सही दिशा में चल रही है। प्रशासन ने कहा है कि जो छात्र हिंसा के डर अथवा किसी अन्य कारण से शहर से बाहर चले गए हैं वह सभी समय रहते वापस लौंट आएं।

गौरतलब है फीस बढ़ोतरी व हॉस्टल चार्जिस बढ़ाए जाने से नाराज जेएनयू छात्रसंघ नए सत्र का बहिष्कार कर रहा है। कई छात्र इस फीस बढ़ोतरी के खिलाफ हड़ताल पर भी हैं। वहीं मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने जेएनयू के कुलपति से विश्वविद्यालय में शैक्षणिक गतिविधियां बहाल करवाने को कहा है। मंत्रालय चाहता है कि करीब ढाई महीने से चली आ रही छात्रों की हड़ताल समाप्त हो जाए। इसके लिए फिलहाल इस सत्र में बढ़ी हुई फीस भी छात्रों से न वसूलने का फैसला लिया गया है। यह बढ़ी हुई फीस के लिए फिलहाल यूजीसी विश्वविद्यालय को अतिरिक्त अनुदान देगा।

-- आईएएनएस

कमेंट करें
kAXbL