comScore

आतंकी हमलों के ताजा इनपुट, पंजाब-जम्मू के रक्षा ठिकाने ऑरेंज अलर्ट पर

आतंकी हमलों के ताजा इनपुट, पंजाब-जम्मू के रक्षा ठिकाने ऑरेंज अलर्ट पर

हाईलाइट

  • पंजाब और जम्मू क्षेत्र में रक्षा ठिकानों को हाई अलर्ट पर रखा गया है
  • आतंकियों के भारत में घुसपैठ के इंटेलिजेंस इनपुट मिलने के बाद यह कदम उठाया गया है
  • न्यूज एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से ये जानकारी दी है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पंजाब और जम्मू क्षेत्र में रक्षा ठिकानों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। पाकिस्तान के आतंकवादियों के एक समूह के भारत में घुसपैठ के ताजा इंटेलिजेंस इनपुट मिलने के बाद यह कदम उठाया गया है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से ये जानकारी दी है।

सरकारी सूत्रों ने एएनआई को बताया, 'पंजाब और जम्मू में और आसपास के रक्षा ठिकानों को हाई अलर्ट पर रखा गया हैं। भारतीय वायु सेना ने पठानकोट सहित पंजाब और जम्मू में अपने एयरबेसों को ऑरेंज अलर्ट पर रखा है।' उन्होंने कहा कि 'आज सुबह सुरक्षाबलों को इनपुट मिले थे, जिसके बाद वे रक्षा ठिकानों की सुरक्षा के लिए पूरी सावधानी बरत रहे हैं।'

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाए जाने के बाद से इंटेलिजेंस इनपुट मिल रहे हैं कि आतंकी प्रमुख रक्षा ठिकानों को अपना निशाना बना सकते हैं। पिछले महीने के अंत में, खुफिया एजेंसियों ने जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकवादियों के आठ से दस मॉड्यूल को लेकर चेतावनी जारी की थी। इनपुट से पता चलता है कि आतंकी समूह संभवतः जम्मू और कश्मीर में और उसके आसपास वायु सेना के ठिकानों पर आत्मघाती हमले की कोशिश कर सकते हैं।

पाकिस्तान ड्रोन के जरिए भी भारत में हथियार भेजकर आतंकी साजिश रच रहा है। फिरोजपुर के हुसैनीवाला सीमा चौकी पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने 7 अक्टूबर (सोमवार) रात को पाकिस्तानी सीमा से भारत में प्रवेश करते हुए एक ड्रोन देखा। पंजाब पुलिस को इस बारे में सूचित किए जाने के बाद एक सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया था।

हुसैनीवाला बॉर्डर पर पाकिस्तानी ड्रोन दिखने के 21 घंटे बाद एक बार फिर फिरोजपुर सीमा पर ड्रोन मूवमेंट देखी गई। मंगलवार रात के बाद बुधवार रात को भी सरहदी गांव हाजरा सिंह वाला, टेन्डी वाला में पाकिस्तानी ड्रोन ने भारतीय सीमा में 4-5 किमी अंदर तक उड़ान भरी। बीएसएफ ने कई फायर कर ड्रोन गिराने की कोशिश की, पर 300 से 400 फीट की ऊंचाई पर होने के कारण वह सफल नहीं हो पाई।

पंजाब के पुलिस प्रमुख दिनकर गुप्ता ने 24 सितंबर को बताया था कि पाक से 9-16 सितंबर के बीच करीब 8 चीनी ड्रोन के जरिए 80 किलो विस्फोटक सामग्री पंजाब और जम्मू-कश्मीर भेजी गई। पाक के आतंकी संगठन पंजाब और जम्मू-कश्मीर में बड़े धमाकों की साजिश रच रहे हैं। इसके लिए पाक सेना और आईएसआई आतंकी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेडएफ) का समर्थन कर रही है।

शुक्रवार को नार्दन कमांड के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने पंजाब में ड्रोन की मदद से हथियार पहुंचाने के सवाल पर कहा था, 'ये पाकिस्तान का नया तरीका है, लेकिन मैं आपको यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि भारतीय सेना पाकिस्तान की इस नापाक कोशिश को विफल करने में पूरी तरह से सक्षम है। उनके मंसूबों को सफल नहीं होने दिया जाएगा।' 

कमेंट करें
0erPM