comScore

दिल्ली: चुनावी बिगुल बजते ही केजरीवाल ने किया दावा, इस बार 70 में से 67 का रिकॉर्ड तोड़ेंगे


हाईलाइट

  • मतदान की तारीख तय होते ही अरविंद केजरीवाल ने गिनाए अपने कार्य
  • इलेक्शन कमीशन ने दिल्ली विधानसभा चुनाव का शेड्यूल जारी किया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली में चुनावी बिगुल बजने के साथ ही सभी राजनीतिक पार्टियां सक्रिय हो गई हैं। इसी के साथ नेताओं ने बयानबाजी भी शुरू कर दी है। एक ओर जहां, आम आदमी पार्टी (आप) के नेता बीते पांच साल में किए गए कार्यों को गिना रहे हैं तो वहीं विपक्षी पार्टियां दिल्ली सरकार को घेरने में लगी हुई हैं। मतदान की तारीख तय होते ही दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में मैंने मुख्यमंत्री के तौर पर काम करते हुए सबके लिए काम किया है। लोग हमारे काम को देखकर हमें वोट देंगे। दिल्ली के लोग मन बना चुके हैं। वे इस बार 70 में से 67 का रिकॉर्ड तोड़ना चाहते हैं। दिल्ली चुनाव के लिए जनता और पार्टी तैयार है, उत्सुक है।

सोमवार को इलेक्शन कमीशन ने दिल्ली में ​मतदान के लिए शेड्यूल की घोषणा की। इसके अनुसार दिल्ली 70 सीटों पर 8 फरवरी को मतदान होंगे, इसके बाद 11 फरवरी को नतीजों का ऐलान किया जाएगा। 

सीएम केजरीवाल ने भाजपा और केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली में भाजपा के पास पुलिस, निगम और डीडीए संभालने की जिम्मेदारी है। वहीं, AAP के पास जल बोर्ड, PWD और अन्य विभाग हैं। अब लोग देखेंगे कि AAP और भाजपा में से किसने ज्यादा अच्छा काम किया। उन्होंने कहा कि लोग दिल्ली को MCD नहीं बनाना चाहते हैं।

पहली बार होगी काम की तुलना
केजरीवाल ने कहा कि ये चुनाव दिल्ली सरकार के काम पर होगा। वोट स्कूलों, अस्पतालों में किए गए कामों के सकारात्मक परिणामों को देखते हुए खुशी से वोट देंगे। भारत के इतिहास में पहली बार लोग काम की तुलना करेंगे। सीएम केजरीवाल ने कहा कि लोगों से अपील है कि अगर काम किया है, तो वोट देना, अगर नहीं किया है तो वोट मत देना। सीएम ने कहा कि 5 साल का कामकाज लेकर दिल्ली में सबके घर जाएंगे। स्कूल अच्छे किए, जिसमें AAP, कांग्रेस, बीजेपी सबके बच्चे पढ़ते हैं।

हम कांग्रेस और भाजपा से भी वोट मांगेगे
सीएम ने कहा कि घर-घर और भाजपा वालों के बीच जाकर कहेंगे कि 70 साल में स्कूल ठीक हुए हैं, इसे मत रोकना, अगर ये रुक गया तो अस्पताल और स्कूल फिर खराब हो जाएंगे। अपने बच्चे और परिवार के विकास के लिए वोट देना, चाहे जिस पार्टी में रहो, हम कांग्रेस और बीजेपी से भी वोट मांगेंगे। 

हम गालियों से जवाब नहीं देंगे
केजरीवाल ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह ने रैली में सिर्फ मुझे गालियां दीं, हम गालियों से जवाब नहीं देंगे। हमारा कार्यक्रम पॉजिटिव होगा, गाली-गलौज नहीं करेंगे। सीएम ने कहा कि दिल्ली के लिए अच्छे सुझाव अमित शाह हमें बताएं, 5 साल उसे लागू करेंगे।

2015 में 67 सीटें जीती ​थीं आम आदमी पार्टी ने
दिल्ली में पिछली बार के चुनाव में अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता पर सवार होकर आम आदमी पार्टी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी और विरोधियों का सूपड़ा साफ कर दिया था। आम आदमी पार्टी ने 2015 विधानसभा चुनाव में 70 में से 67, बीजेपी को सिर्फ तीन सीटें मिली थीं। कांग्रेस अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी।

कमेंट करें
fBvTW