दैनिक भास्कर हिंदी: VHP की धर्मसभा में बोले भैयाजी जोशी, हम भीख नहीं मांग रहे, कानून बनाए सरकार

December 9th, 2018

हाईलाइट

  • दिल्ली के रामलीला मंदिर में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने रविवार को धर्मसभा का आयोजन किया।
  • आरएसएस के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी भी हुए धर्मसभा में शामिल।
  • भैयाजी जोशी ने कहा कि सरकार को शीतकालीन सत्र में राम मंदिर के लिए कानून बनाना चाहिए। हम सरकार से भीख नहीं मांग रहे हैं।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राम मंदिर मुद्दे पर रार थमती दिखाई नहीं दे रही है। दिल्ली के रामलीला मंदिर में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने रविवार को धर्मसभा का आयोजन किया था जिसका समापन हो गया है। अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण न कराए जाने की स्थिती में धर्मसभा में आए लोगों ने सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। धर्मसभा को संबोधित करते हुए आरएसएस के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने कहा कि सरकार को शीतकालीन सत्र में राम मंदिर के लिए कानून बनाना चाहिए। हम सरकार से भीख नहीं मांग रहे हैं। भैयाजी जोशी ने कहा कि सरकार में जो लोग बैठे हुए हैं, उन्होंने भी लोगों से राम मंदिर बनाने का वादा किया था। अब समय आ गया है कि वो अपने वादे को पूरा करें।

बता दें कि धर्मसभा के लिए वीएचपी 1 दिसंबर से जनसंपर्क अभियान चला रही थी। वीएचपी ने 1 से 9 दिसंबर के बीच दिल्ली एनसीआर में जनसंपर्क अभियान चलाने के साथ ही रथयात्रा भी निकाली थी। विश्व हिंदू परिषद का कहना है कि यदि सुप्रीम कोर्ट भी राम मंदिर मुद्दे पर कोई फैसला नहीं लेता है तो प्रयागराज (पूर्व इलाहाबाद) में जनवरी 2019 में होने वाले कुंभ मेले में इस पर फैसला लिया जाएगा।

रविवार की बैठक में जूना अखाड़ा के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी, महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद, श्रीजगन्नाथ पीठाधीश्वर जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य, साध्वी ऋतंभरा, परमानंद जी, आरएसएस के सरकार्यवाह सुरेश (भैया जी) जोशी, वीएचपी के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) विष्णु सदाशिव कोकजे और कार्याध्यक्ष आलोक कुमार आदि शामिल हुए।

धर्मसभा में पहुंचने वाले लोगों के लिए दिल्ली के कई स्थानों पर भगवान राम की बड़ी फोटो लगाई गई थी, जिन पर लोगों ने अपने घरों से लाए गए फूल चढ़ाए। धर्मसभा जाने वाले रास्ते पर हर 2 से 3 किलोमीटर के बीच में बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीन भी लगाई गई थी। लोगों को परेशानी से बचाने के लिए दिल्ली पुलिस ने यातायात को लेकर एडवाइजरी भी जारी की थी।

 

खबरें और भी हैं...