दैनिक भास्कर हिंदी: J&K: यूरोपीय संघ के दल ने कश्मीर में देखे हालात, कांग्रेस ने बताया अनाधिकृत दल

October 30th, 2019

हाईलाइट

  • राहुल गांधी ने कहा- विदेशी नेताओं को वहां जाने की अनुमति देने में कुछ तो गड़बड़ है
  • ओवैसी ने कहा- यह आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल नहीं है

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के बाद वहां के हालात से पूरी दुनिया को अवगत कराने के लिए केंद्र सरकार ने यूरोपीय संघ (ईयू) के सांसदों का एक दल भारत बुलाया था। इस दल ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने कश्मीर में डल झील की सेर की और सभी महत्वपूर्ण स्थानों पर जाकर स्थिति को देखा।

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भारतीय सांसदों को रोकने और विदेशी नेताओं को वहां जाने की अनुमति देने में कुछ तो गड़बड़ है। इसके अलावा हैदराबाद के सांसद और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इस दल को अनाधिकृत बताया।

 

इस दौरान यूरोपीय संघ (ईयू) के सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने आज श्रीनगर में स्थानीय निकाय के सदस्यों और नागरिक समाज के सदस्यों से मुलाकात की। 

 

 

राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि भारतीय सांसदों की कश्मीर यात्रा पर उन्हें हिरासत में ले लिया गया और श्रीनगर से वापस भेज दिया गया। वहीं यूरोपीय सांसदों के लिए सरकार लाल कालीन बिछा रही है। इससे पहले कांग्रेस आनंद शर्मा ने एक बयान में कहा कि यूरोपीय सांसद कश्मीर जा रहे हैं। उन्हें पूरी जानकारी से अवगत कराया जा रहा है। ये भारतीय संसद की संप्रभुता के खिलाफ है और भारतीय सांसदों के विशेष अधिकारों का हनन है।

 

यह मोदी सरकार की हताशा को दर्शा रहा
ओवैसी ने कश्मीर दौरे पर गए यूरोपीय संघ के प्रतिनिधिमंडल पर तंज कसते हुए कहा है कि यह आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल नहीं है। उन्होंने डेलिगेशन को इस्लामोफोबिया से ग्रस्त करार देते हुए कहा कि यह मोदी सरकार की हताशा को दर्शा रहा है।

 

 

ओवैसी ने मंगलवार को कहा कि यह यूरोपीय संघ के सांसदों का आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल नहीं है। इस दौरे को नई दिल्ली में स्थित यूरोपीय संघ के ऑफिस से स्वीकृति मिली है। यह स्पष्ट तौर पर मोदी सरकार की हताशा और भ्रम को दर्शाता है कि उन्हें आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल की मंजूरी नहीं मिली।

'गैरों पर करम, अपनों पर सितम'
ओवैसी ने इसके साथ ही केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए गाने की लाइन भी ट्वीट की। उन्होंने लिखा कि गैरों पर करम, अपनों पर सितम, ऐ जाने वफा ये जुल्म न कर। रहने दे अभी थोड़ा सा धरम।' गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद भारत ने अपनी नीति को नरम करते हुए पहली बार विदेशी सांसदों को वहां जाने देने की अनुमति दी है।