दैनिक भास्कर हिंदी: दाती महाराज पर रेप का आरोप, पीड़िता ने किया चौंकाने वाला खुलासा

June 12th, 2018

हाईलाइट

  • दाती महाराज पर लगा बलात्कार का आरोप।
  • शिष्या ने लगाया मंदिर में बलात्कार का आरोप।
  • दिल्ली पुलिस ने दर्ज किया बलात्कार का केस।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। धर्म के नाम पर पाखंड फैलाने वाले बाबाओं की फेहरिस्त में एक और नाम जुड़ गया है। इस बार स्वघोषित भगवान और फतेहपुर स्थित शनि धाम के प्रमुख दाती महाराज पर उनकी ही शिष्या ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। दिल्ली पुलिस ने महाराज के खिलाफ बलात्कार सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। 

 

पीड़िता ने किए चौंकाने वाले खुलासे

वहीं पीड़िता ने कई चौंकाने वाले खुलासे भी किए हैं। इंसाफ के लिए पिछले एक हफ्ते से भटक रही पीड़िता ने चिट्ठी लिखकर अपनी आपबीती बताई है। पीड़िता ने बताया कि सेवा के नाम पर दाती महाराज उसे नोचते थे और कहते थे इससे मोक्ष प्राप्त होगा। इतना ही नहीं जब ये सारी बात उसने आश्रम में रहने वाली वरिष्ठ शिष्या को बताया तो उसने कहा सभी ऐसा करते हैं। उसे भी बाबा का कहना मानना पड़ेगा। 

 

पीड़िता ने लिखी चिट्ठी- 
 

पीड़िता ने बताया कि आज उस बारे में शिकायत करने जा रही हूं, जिसे डर के कारण, पारिवारिक खात्मे के डर से हिम्मत नही कर सकी। अब घुट-घुट कर नहीं जिया जाता। भले ही मेरी जान चली जाएं, जिसकी मुझे पूरी आशंका है। फिर भी मरने से पहले यह सच सबके सामने लाना चाहती हूं।

 

मैं चिल्लाती रही वो दुष्कर्म करते रहे

पीड़िता ने लिखा है, मेरे साथ दाती मदनलाल राजस्थानी ने अपने सहयोगी श्रद्धा उर्फ नीतू, अशोक, अर्जुन, नीमा जोशी के साथ मिलकर 9 जनवरी 2016 को दिल्ली स्थित आश्रम श्री शनि तीर्थ, असोला फतेहपुर बेरी में दुश्कर्म किया। ये सब तब हुआ जब ‘चरण सेवा’ के लिए श्रद्धा उर्फ नीतू मुझे दाती मदनलाल राजस्थानी के पास लेकर गई। मैं चीखती-चिल्लाती रही, लेकिन वो दुष्कर्म करते रहे। 

 

चरण सेवा के नाम पर जानवरों की तरह नोचा

26, 27, 28, मार्च 2016 को राजस्थान स्थित गुरुकुल, सोजत शहर, जिला पाली में भी दाती महाराज ने मेरे साथ दुष्कर्म किया। अनिल और श्रद्धा ने इसमें दाती मदनलाल राजस्थानी का साथ दिया। अनिल ने भी यही सब किया। इन दोनों घटनाओं में मेरे शरीर के हर हिस्से को जानवरों की तरह नोंचा गया। ये सब मेरे साथ ‘चरण सेवा’ के नाम पर किया गया।

 

तीन रात तक किया दुष्कर्म

श्रद्धा हमेशा कहती, यह सेवा है। इससे तुम्हें मोक्ष प्राप्त होगा। तुम बाबा की हो और बाबा तुम्हारे। तुम कोई नया काम नहीं कर रही हो, सब यही करते आए हैं। कल हमारी बारी थी, आज तुम्हारी बारी है, कल न जाने किसकी होगी। बाबा समंदर हैं और हम सब उसकी मछलियां हैं। इसे कर्ज समझ कर चुका लो। इन तीन दिनों में अनिल ने भी मेरे साथ जबरन दुष्कर्म किया। ये तीन रातें मेरी जिंदगी की सबसे भयानक रातें थीं। दुष्कर्म करते हुए मदललाल राजस्थानी ने कहा था कि- तुम्हारी सेवा पूरी हुई।

 

दाती महाराज को जीने का अधिकार नहीं

पीड़िता ने आगे लिखा, मुझे नहीं पता इस शिकायत के बाद मेरा क्या होगा। शायद मैं आप लोगों के बीच न रहूं लेकिन मेरी गुहार आप सभी के बीच रहेगी। सिर्फ इसी उम्मीद के सहारे यह पत्र लिख रही हूं। शायद मुझे न्याय मिले और दूसरे लोगों की जिंदगी बर्बाद होने से बच सके। मदनलाल राजस्थानी को जीने का अधिकार नहीं हैं।

 

ऐसे कर्मों के लिए फांसी होनी चाहिए

पीड़िता ने मांग की है कि ऐसे कामों के लिए दाती महाराज को फांसी की सजा होनी चाहिए। इसके साथ ही पीड़िता ने खुद के लिए और अपने परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की है। पीड़िता ने बताया कि अब तक इसलिए चुप थी क्योंकि मुझे लगता था कि मेरा साथ कोई नहीं देगा। मगर बर्दाश्त से बाहर होने के बाद इस बारे में अपने घरवालों को बताया। 

 

 

दिल्ली पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

दिल्ली स्थित फतेहपुर बेरी के शनिधाम मंदिर के मुखिया दाती महाराज पर उनकी एक महिला शिष्य ने बलात्कार का आरोप लगाया है। पीड़ित महिला के अनुसार  लगभग 2 साल पहले उसके साथ मंदिर में ही दाती महाराज ने बलात्कार किया था, लेकिन डर के कारण वह इसे उजागर नहीं कर पाई थी। मामले के सामने आते ही दिल्ली पुलिस ने दाती महाराज के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 377, 354, 34 के तहत केस दर्ज किया है।

 



 

मशहूर है दाती महाराज, सोशल मीडिया पर रहते हैं एक्टिव

दिल्ली स्थित शनिधाम मंदिर के प्रमुख दाती महाराज दिल्ली इलाके में लोगों के बीच खासे लोकप्रिय हैं। राजधानी में बड़ी संख्या में लोग उनके भक्त हैं। दाती महाराज इंटरनेट पर भी काफी एक्टिव रहते हैं। खुद की वेबसाइट के साथ साथ वे शिक्षा का भी ऑनलाइन प्रचार करते हैं।

 

पहले नहीं है दाती महाराज

धर्म के नाम पर मासूमों के साथ दुराचार करने का आरोप झेल रहे दाती महाराज पहले बाबा नहीं हैं। जिनपर बलात्कार जैसा संगीन आरोप लगा है। इसे पहले भी कई स्वयंभू बाबाओं ने धर्म की आड़ में अपराधों को अंजाम दिया है।

 

आसाराम

बापू कहे जाने वाले आसाराम को मरने तक जेल में रहने की सजा मिली है। उन पर नाबालिग लड़की से बलात्कार का आरोप है।



 

स्वामी परमानंद

स्वामी परमानंद महाराज को यूपी पुलिस ने यौन उत्पीड़न के मामलों में गिरफ्तार किया था। उनपर आरोप था कि बाबा संतान प्राप्ति के झूठ की आड़ में महिलाओं से बलात्कार करता था।

 

भीमानंद 

खुद को साईं बाबा का अवतार बताने वाले दिल्ली के भीमानंद महाराज पर देह व्यापार में लिप्त होने का आरोप लगा था। होटल में गार्ड की नौकरी करने के बाद शिवमूरत द्विवेदी उर्फ स्वामी भीमानंद ने बाबा बनने के बाद अरबों की संपत्ति कड़ी कर दी।

 



गुरमीत राम रहीम

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख पर अपने ही आश्रम में रहने वाली दो साध्वियों से बलात्कार के आरोप लगे थे। दोषी पाये जाने पर राम रहीम को 20 साल की जेल हो गई।