दैनिक भास्कर हिंदी: मूसलाधार बारिश से मणिपुर में बाढ़, 300 परिवार बेघर

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क, मणिपुर। शहर में लगातार 2 दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से राजधानी इम्फाल समेत राज्य के कई इलाकों का बुरा हाल हो गया है। 300 से अधिक परिवारों के घर बाढ़ की चपेट में आ गए हैं, जिसके कारण लोग राहत शिविरों में शरण लेने के लिए मजबूर हो गए हैं। वहीं, इंफाल जिले के बाशिखोंग में इम्फाल नदी के किनारे का एक हिस्सा पानी में बह गया, जिसके बाद लोगों के बीच डर बैठ गया है। 

बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने कहा, 'इम्फाल नदी के साथ-साथ नंबुल नदी भी उफान पर है, जिसके कारण कई इलाके डूब गए हैं। सरकार ने अस्थायी राहत शिविर कैंप बनाए हैं, जहां पीड़ितों को खाद्य सामग्री जैसी अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। बताया गया है कि कई खेत के मैदानों में भी बाढ़ आ गई थी। इस बीच महादेव और लाइटन क्षेत्र के बीच भूस्खलन के बाद इंफाल-उखुरूल सड़क मार्ग भी प्रभावित हुआ है। यह भूस्खलन एनएच -2 पर कंगपोकी जिले के कोंगह गांव में हुआ था। बाढ़ नियंत्रण विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों ने स्थिति का पता लगाने और राहत शिविरों में शरण लेने वालों के लिए आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराने के लिए प्रभावित इलाकों में दौरा किया है।

जानकारी के अनुसार असम में भी करीब 453 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं और 5,272 हेक्टेयर में लगी फसल को नुक्सान पहुंचा है। करीमगंज को सबसे अधिक नुक्सान पहुंचा है, यहां बाढ़ से 1.53 लाख प्रभावित हुए हैं। यहां करीब 269 लोग बचाव कैंप में रह रहे हैं। बिहार में भी भारी वर्षा हुई है और बीते 24 घंटों में यहां मध्यम वर्षा दर्ज कि गई है। मौसम विभाग ने मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार और पूर्वी उत्तरप्रदेश में बहुत भारी बारिश होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है। अरूणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, गोवा, छत्तीसगढ़ और तटीय कर्नाटक में बारिश की बौछार की 'बहुत संभावना' है।