दैनिक भास्कर हिंदी: अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद से VHP को टक्कर देंगे तोगड़िया, कहा- संगठन बदला है, तेवर नहीं 

June 24th, 2018


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया आज अपनी नई अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद पार्टी का ऐलान करेंगे। तोगड़िया लंबे समय से RSS, VHP और नरेंद्र मोदी से नाराज चल रहे थे। इस नाराजगी के पीछे की मुख्य वजह राम मंदिर बताया जा रहा है। तोगड़िया के मुताबिक लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने लोगों से कई वादे किए थे, लेकिन उन्हें समय पर पूरा नहीं कर सके। जाहिर है तोगड़िया का निशाना अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर था। अब तोगड़िया लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी को चुनौती देने की योजना पर काम कर रहे है। तोगड़िया पहले ही कह चुके है कि "मैंनें सिर्फ संगठन बदला है, तेवर वहीं है" 

 

Image result for प्रवीण तोगड़िया की नई पार्टी

 

बता दें कि प्रवीण तोगड़िया हाल में भाजपा सरकार पर आरोप लगा चुके हैं कि भाजपा चाहती तो राम मंदिर आंदोलन को छोटे स्तर पर शुरू कर सकती है, ताकि दूसरे दलों को हिंदुत्व विरोधी बताकर बहुसंख्यक मत अपने पक्ष में कर सके। संसद में बहुमत होने के बाद भी भाजपा राम मंदिर पर कानून बनाने के लिए 1989 के अपने पालमपुर प्रस्ताव पर पलटी मार चुकी है। तोगड़िया ने नरेंद्र मोदी सरकार की तीखी आलोचना करते हुए उस पर अपने वादों से पीछे हटने और जनता की अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतरने का आरोप लगाया था। उन्होंने मोदी सरकार के प्रदर्शन को माइनस 25 प्रतिशत की रेटिंग देते हुए कहा था कि पीएम की विदेश नीति बेहद दयनीय है। 

 

 

Image result for विश्व हिन्दू परिषद प्रवीण तोगड़िया

 

पीएम को लिखा था इमोशनल लेटर
गौरतलब है कि वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर उनसे मिलने का वक्त मांगा था। पत्र में तोगड़िया ने पीएम को कई पुरानी बातें भी याद दिलाई हैं। इसमें लिखा है, 'बहुत वक्त से हम दोनों का दिल से संवाद नहीं हुआ, जो 1972 से 2005 तक होता रहा था। समय-समय पर देश के, गुजरात के और आपके भी जीवन में जो प्रश्न उपस्थित हुए, उनपर हम दोनों ने साथ रहकर बहुत काम किया। हमारे घर, ऑफिस में आपका आना, साथ में भोजन, चाय ठहाके लगाकर हंसना । मुझे विश्वास है आप कुछ भी नहीं भूले हो। 'पत्र में लिखा है,'सत्ता मिलने के साथ आपने हमसे और मूल विचारधारा से ही दूरी बना ली फिर भी हमारे दिल में आज भी वही संवाद की उम्मीद है और इसलिए यह पत्र लिख रहा हूं।' पत्र में आगे लिखा है कि वह अयोध्या में राम मंदिर, गोवंश हत्या बंदी का राष्ट्रीय कानून, समान नागरिक संहिता, जम्मू कश्मीर में धारा 370 और धारा 35ए हटाने सहित करोड़ों किसानों और मजदूरों के विषय पर चर्चा करना चाहते हैं।

 


Image result for प्रवीण तोगड़िया रोते