मौसम का हाल : आने वाले पांच दिनों तक देश के कई हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट, अमरनाथ के बाद जम्मू के डोडा में फटा बादल, मध्यप्रदेश के महाराष्ट्र से सटे जिलों में हो सकती है तेज बारिश

July 9th, 2022

हाईलाइट

  • बादल फटने की इन घटनाओं के बाद मौसम विभाग ने लोगों को अलर्ट रहने को कहा है

डिजिटल डेस्क, भोपाल।  दक्षिण पश्चिम मानसून पूरे देश में एक्टिव हो चुका है। जिसके कारण देश के अधिकांश भागों में भारी और अति भारी बारिश  हो रही है। जिन राज्यों में भारी या अति बारिश हो रही है वहां के कई इलाकों में जनजीवन अस्त-वयस्त हो गया है। इन इलाकों से बादल फटने, बाढ़ आने और बिजली गिरने की खबरें लगातार आ रही हैं। शनिवार को हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में तेज बारिश के बाद एक चार मंजिला इमारत धरासाई हो गई। स्थानीय प्रशासन ने हादसे से पहले ही इमारत को खाली करा लिया था इसलिए हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। 

इसी बीच भारतीय मौसम विभाग ने देश के कई हिस्सों में आने वाले 5 तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। 

मौसम विभाग के मुताबिक, भारत में इस वक्त दो तरह के सिस्टम एक्टिव हैं। एक सिस्टम दक्षिण पश्चिमी राजस्थान के आसपास एक्टिव है। वहीं एक सिस्टम देश के उत्तर पश्चिम भाग और बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक्टिव है। इन्हीं के चलते भारी बारिश हो रही है। 

मौसम विभाग ने बताया कि, इन सिस्टमों के एक्टिव होने के कारण आने वाले पांच दिनों में छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, ओडिशा, गोवा, कर्नाटक, तेलंगाना और महाराष्ट्र में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं।  
वहीं बात करें राजधानी दिल्ली की तो यहां तेज बारिश होने के आसार अभी नजर नहीं आ रहे हैं। उमस ने दिल्ली वासियों को परेशान कर रखा है। हालांकि मौसम विभाग ने आज रात तक गरज के साथ बारिश होने की संभावना जताई है।   

जम्मू-कश्मीर में शनिवार-रविवार को हो सकती है भारी बारिश

शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ गुफा के करीब बादल फटने से 15 तीर्थयात्रियों की मौत हो गई है, वहीं कई यात्री लापता हो गए। रेसक्यू और सर्चल ऑपरेशन अभी भी जारी है।  इसी बीच मौसम विभाग ने राज्य में शनिवार और रविवार को राज्य में भारी बारिश होने का अंदाजा लगाया है। 

अमरनाथ हादसे के बाद राज्य में एक और हादसा हुआ। दरअसल, डोडा जिले के गुंटी वन में करीब बादल फटने से ठठरी कस्बे में बाढ़ आ गई। आज सुबह 4 बजे हुई इस घटना में कई वाहन मिट्टी में दब गए और राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया। हालांकि हादसे में किसी की मौत की सूचना नहीं आई है। बादल फटने की इन घटनाओं के बाद मौसम विभाग ने लोगों को अलर्ट रहने को कहा है। 

मध्यप्रदेश के महाराष्ट्र की सीमा से सटे जिलों में हो सकती है तेज बारिश

आज राजधानी भोपाल में सूबह गरज-चमक के साथ हल्की बारिश हुई। इसके अलावा प्रदेश के उमरिया, छिंदवाड़ा, बालाघाट, नर्मदापुरम, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, मण्डला,  सतना, सीधी और बैतूल में कहीं-कहीं बूंदाबांदी और हल्की बौछारें पड़ीं। वहीं प्रदेश के अन्य इलाकों में लोगों को उमस ने परेशान किया। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, अभी दक्षिण-पश्चिम राजस्थान के ऊपर चक्रवातीय गतिविधियां होने से नमी बनी हुई है। साथ ही ओडिशा से भी नमी मिलने लगी है। जिसकी बदौलत प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में महाराष्ट्र से सटे जिलों में तेज बारिश होने के आसार हैं और आने वाले चार दिनों तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा।

खबरें और भी हैं...