दैनिक भास्कर हिंदी: कैसे शुरू होगा वैक्सीनेशन का अगला चरण? दिल्ली समेत कई राज्यों ने खड़े किए हाथ, केजरीवाल बोले- उम्मीद है वैक्सीन की 3 लाख डोज कल तक आ जाएगी

April 30th, 2021

हाईलाइट

  • पूरे देश में 1 मई से 18-44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू होना है
  • वैक्सीन की किल्लत के चलते कई राज्यों ने हाथ खड़ कर दिए
  • केजरीवाल ने कहा, उम्मीद है वैक्सीन की 3 लाख डोज कल या परसो तक आ जाएगी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पूरे देश में 1 मई से 18-44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू होना है। लेकिन देश में इस वक्त वैक्सीन की किल्लत भी है। ऐसे में कई राज्यों ने 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू करने से इनकार कर दिया है। इस बीच दिल्ली में वैक्सीनेशन के अगले चरण को शुरू करने को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, अभी तक हमारे पास वैक्सीन नहीं पहुंची है। हम लगातार कंपनी के संपर्क में हैं। हमें उम्मीद है कि कोविशील्ड वैक्सीन की 3 लाख डोज कल या परसो तक आ जाएगी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, हमारे पास दो वैक्सीन है एक कोविशील्ड और एक कोवैक्सीन। दोनो कंपनियों को हमने 67 लाख डोज़ देने का निवेदन किया है। हमने कहा है कि ये वैक्सीन हमें अगले 3 महीने के अंदर उपलब्ध कराएं। हमारा पूरा प्रयास है कि अगले 3 महीने के अंदर दिल्ली के सभी लोगों को टीका लगा दिया जाए। इससे पहले दिल्ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने भी कहा था, 'हमारे पास अभी वैक्‍सीन नहीं है, इसके लिए कंपनी से आग्रह किया गया है, जब ये आ जाएंगी तो हम आपको बताएंगे।'

केजरीवाल ने कहा कि अभी दिल्ली सरकार के पास वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। इसलिए 18 से 44 साल के ऐसे लोग जिन्होने वैक्सीनेशन के लिए अपना ऑनलाइन पंजीकरण कराया वह एक मई से वैक्सीन लेने के लिए अस्पतालों के बाहर लाइन न लगाएं।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि मेरा निवेदन है कि आप लोग एक मई को वैक्सीनेशन सेंटर्स पर लाइन में न लगें। इससे कानून व्यवस्था न गड़बड़ाने दें। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग भी प्रभावित नहीं होनी चाहिए। जैसे ही वो वैक्सीन आएगी हम घोषणा करके आपको बताएंगे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की तरफ से वैक्सीनेशन को लेकर सभी तैयारियां की जा चुकी हैं, लेकिन उसके लिए वैक्सीन का उपलब्ध होना जरूरी है। अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है। जैसे ही कंपनियां हमें एक शेड्यूल दे देती हैं कि कितनी कितनी वैक्सीन कब कब देंगे, तो हम तुरंत वैक्सीनेशन शुरू कर देंगे।

बता दें कि केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र वाले सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन शुरू करने का ऐलान किया है। इसके लिए रजिस्ट्रेशन शुरू भी हो गया है। हालांकि वैक्सीन की शॉर्टेज के चलते दिल्ली के अलावा महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों ने अपने यहां वैक्सीनेशन का नया अभियान शुरू करने में असमर्थता जताई है।

मध्य प्रदेश में के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीनेशन को लेकर कहा कि हमने कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों ही वैक्सीन के लिए कंपनियों को ऑर्डर दिए थे, लेकिन उनसे संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि 1 मई तक वैक्सीन डोज़ उपलब्ध नहीं हो पाएंगी। उन्होंने कहा कि जैसे ही टीका उपलब्ध होगा वैक्सीनेशन का अगला चरण शुरू कर दिया जाएगा।

राजस्थान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि वैक्‍सीन निर्माताओं ने कहा है कि वे 15 मई से पहले सप्‍लाई नहीं कर पाएंगे। उन्‍होंने कहा कि हमारे पास स्‍टोरेज में वैक्‍सीन नहीं है। 18+ के टीकाकरण के लिए हमें सात करोड़ वैक्‍सीन चाहिए लेकिन ये हमें समय पर मिलनी चाहिए। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि हमने सीरम इंस्‍टीयूट से बात करके 3.75 करोड़ डोज देने को कहा है लेकिन चूंकि उन्‍हें पहले केंद्र सरकार के आर्डर की पूर्ति करना है इसलिए वे फिलहाल हमें वैक्‍सीन नहीं दे सकते।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री  राजेश टोपे ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट को करीब सात करोड़ डोज का ऑर्डर दिया, लेकिन सीरम के अधिकारी ने 15 मई से पहले इसके ना मिलने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि टीकाकरण शुरू करने के लिए कम से कम पांच दिन का पर्याप्त स्टॉक होना चाहिए। राज्य की क्षमता रोजाना आठ लाख लोगों को टीका लगाने की है। महाराष्ट्र कई बार टीकों की कमी की वजह से टीकाकरण अभियान रोका जा चुका है जो 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए चल रहा है।

खबरें और भी हैं...