comScore

हैदराबाद: थाने में बंद थे आरोपी, सैकड़ों लोगों ने घेरा थाना, पुलिस ने खदेड़ा

हैदराबाद: थाने में बंद थे आरोपी, सैकड़ों लोगों ने घेरा थाना, पुलिस ने खदेड़ा

हाईलाइट

  • महिला डॉक्टर के हत्या और रेप के बाद देशभर में प्रदर्शन
  • प्रदर्शकारियों ने पुलिस पर फेंकी चप्पलें

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। वेटनरी डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म और फिर हत्या के बाद शव जलाने की दिल दहलाने की घटना से पूरे देश गुस्से में है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर शादनगर थाने में रखा था। इसकी भनक जब लोगों को लगी तो कुछ ही देर में थाने को सैकड़ों लोगों ने थाने को घेर लिया। लोग थाने में घुसने की कोशिश करने लगे। पुलिस ने बमुश्किल लोगों को समझा-बुझाकर वापस लौटा दिया।

इसके कुछ देर बाद हैदराबाद से 50 किलोमीटर दूर इस कसबे के पुलिस थाने के सामने 'हमें न्याय चाहिए' का नारा लगाते हुए स्थानीय निवासियों ने धरना दिया, जिसमें महिलाएं और छात्र शामिल थे। वे आरोपियों को बिना पूछताछ और बिना सुनवाई के जल्द से जल्द फांसी पर लटकाने की मांग कर रहे थे। कुछ प्रदर्शनकारियों ने कहा कि इन जैसे अपराधियों के लिए समाज में कोई जगह नहीं है। इन्हें एनकाउंटर में मार देना चाहिए।

इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन भीड़ में से लोगों ने पुलिस पर चप्पल भी फेंकना शुरू कर दी। प्रदर्शनकारियों का विरोध प्रदर्शन उग्र होते ही पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद स्थानीय लोग थाने के आसपास के इलाके से हट गए। पुलिस को प्रदर्शनकारियों को हटाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

बता दें कि आरोपियों को शादनगर के मजिस्ट्रेट ने 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपी मोहम्मद आरिफ, चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु, जोल्लु शिवा और जोल्लु नवीन को महबूब नगर जेल भेज दिया गया।

मंडल कार्यकारी मजिस्ट्रेट ने शादनगर पुलिस स्टेशन में आदेश पारित किया, क्योंकि महबूबनगर की फास्ट-ट्रैक अदालत में न्यायाधीश उपलब्ध नहीं थे और थाने के बाहर हालात तनावपूर्ण रहने के कारण अभियुक्तों को पेश नहीं किया जा सकता था।

उल्लेखनीय है कि 25 वर्षीय पशु चिकित्सक युवती का बुधवार की रात हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में आउटर रिंग रोड पर एक टोल प्लाजा के पास दो ट्रक ड्राइवरों और दो सफाईकर्मियों ने कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया और इसके बाद उसे जिंदा जला दिया था। दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने शादनगर शहर के पास एक पुलिया के नीचे पीड़िता के अधजले शव को ठिकाने लगाया। अगले दिन पीड़िता का झुलसा हुआ शव मिला।

साइबराबाद पुलिस ने शुक्रवार रात चार आरोपियों की गिरफ्तारी की पुष्टि की। आरोपियों ने कथित रूप से टोल प्लाजा के पास खड़ी पीड़िता की स्कूटी के टायर की हवा निकाल दी थी, जिसके बाद उन्होंने उसे अपने झांसे में ले लिया। चारों आरोपी तेलंगाना के नारायणपेट जिले के रहने वाले हैं।

कमेंट करें
byZmO
कमेंट पढ़े
निर्मलॎा देवी , पॗधान November 30th, 2019 22:54 IST

ऐसी घटनाओं मे दोषी को तुरंत फांसी होनी चाहिये जिससे अपराधियों मे भय बना रहे| देर से सजा मिलने से अपराधियों मे भय नही होता हैं|