comScore

जम्मू-कश्मीरः आतंकियों ने बारामूला में 6 दुकानों में लगाई आग

जम्मू-कश्मीरः आतंकियों ने बारामूला में 6 दुकानों में लगाई आग

हाईलाइट

  • आतंकियों ने दुकानदारों को दुकान न खोलने की धमकी दी थी
  • ED ने जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की 6 संपत्तियों को जब्त किया था

डिजिटल डेस्क, बारामूलाजम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के मेन बाजार में 6 दुकानों को अज्ञात लोगों द्वारा आग के हवाले करने की सूचना सामने आई है। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही आतंकियों ने दुकानदारों को अपनी दुकान न खोलने की धमकी दी थी। आतंकियों की धमकी के बावजूद इन दुकानदारों ने अपनी दुकानें खोली थीं। फिलहाल इन दुकानों में आग लगाने वालों की पहचान नहीं हो पाई है।

हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उनकी 6 संपत्तियों को जब्त किया था। जानकारी अनुसार पाकिस्तानी आतंकवादी और वैश्विक रूप से प्रतिबंधित समूह हिज्बुल मुजाहिदीन के प्रमुख सैयद सलाउद्दीन के खिलाफ आतंकी फंडिंग मामले में आतंकवादियों से संबंधित 6 संपत्तियों को अपने कब्जे में लिया था। ED ने इस साल मार्च में धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत 13 ऐसी संपत्तियां जब्त की थीं। ईडी ने कहा कि ये संपत्तियां तीन जिलों अनंतनाग, बांदीपोरा और बारामूला में स्थित हैं।

गौरतलब है कि बीते अगस्त माह में मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने के साथ ही 5 अगस्त को संसद में जम्मू कश्मीर राज्य पुनर्गठन बिल पेश किया था। इस बिल से जम्मू कश्मीर का पूर्ण राज्य का दर्जा समाप्त कर प्रदेश को दो केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया था।

पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 को रद्द करने के बाद घाटी के ज्यादातर सक्रिय राजनेताओं को हिरासत में लिया गया था और उन्हें डल झील के किनारे सेंटूर होटल में रखा गया था। हिरासत में लिए गए नेताओं में जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला, फारूक अब्दुल्ला, शाह फैसल, अली मोहम्मद सागर, सलमान सागर, सज्जाद लोन और यसीर रेशी जैसे दिग्गज नेता शामिल हैं।

कमेंट करें
XPeYH