दैनिक भास्कर हिंदी: सेना से एनकाउंटर में मारा गया मसूद अजहर का भतीजा, 1 जवान शहीद

May 18th, 2018

डिजिटल डेस्क, कश्मीर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सिक्योरिटी फोर्सेस और आतंकियों के बीच चले एनकाउंटर में 3 आतंकी मारे गए हैं, जबकि आर्मी के एक जवान के शहीद होने की भी खबर है। ये तीनों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं। आर्मी के ऑफिशियल्स का कहना है कि तीनों आतंकी के मारे जाने के बाद फायरिंग भी रुक गई है। वहीं इस फायरिंग में एक सिविलियन के भी घायल होने की खबर है। 

आतंकियों के पास अमेरिका में बनी रायफल

जम्मू कश्मीर पुलिस ने बताया कि आतंकियों के पास से एक M16 राइफल, एक AK47 और पिस्टल बरामद की गई। सुरक्षाबलों ने आतंकियों से अमेरिका में बनी बेहद खतरनाक M4 कार्बाइन भी बरामद की है। यह रायफल पिछले दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी। M4 कार्बाइन मिलने पर आर्मी चीफ विपिन रावत ने कहा कि ये साबित करना है कि आतंकियों को सीमा पार से मदद मिल रही है। आईजी मुनीर खान ने बताया कि ये ऑपरेशन पुलिस, आर्मी और सीआरपीएफ के बेहतर तालमेल का नतीजा है। 

अलगर कांडी में हुआ एनकाउंटर

सिक्योरिटी फोर्सेस और आतंकियों के बीच एनकाउंटर पुलवामा के अलगर कांडी इलाके में हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंडियन आर्मी को इलाके में आतंकी के छिपे होने की खबर मिली थी। खबर ये भी मिली थी कि ये आतंकी किसी बड़े हमले को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। खबर मिलने के बाद सिक्योरिटी फोर्सेस ने अलगर कांडी पहुंचकर सर्च ऑपरेशन चलाया। कई घंटो के ऑपरेशन के बाद सिक्योरिटी फोर्सेस ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया। वहीं इस एनकाउंटर में शहीद हुए जवान की पहचान लांस नायक व्रह्म पाल सिंह के रुप में हुई है, जो उत्तरप्रदेश के बुलंदशहर का रहने वाला था।

मसूद अजहर का भतीजा ढेर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस एनकाउंटर में मारे गए तीन आतंकियों में से एक टेररिस्ट ऑर्गनाइजेशन जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर का भतीजा रशीद तल्हा भी है। इसके अलावा बाकी आतंकियों में से एक विदेशी नागरिक भी है, जिसकी पहचान मोहम्मद भाई के रूप में हुई है, साथ ही आतंकी वसीम भी इस एनकाउंटर में मारा गया है। वहीं बताया जा रहा है कि इस इलाके में आतंकी वसीम, समीर टाइगर, आदिल हिजबी और लियाकत के अलावा दो अन्य विदेशी आतंकियों में मसूद अजहर के भतीजे के छिपे होने की खबर मिली थी, जिसके बाद नेशनल राइफल्स रेजीमेंट, एसओजी और सीआरपीएफ ने सर्च ऑपरेशन चलाया था।

आतंकियों ने शुरू की फायरिंग

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जैसे ही सिक्योरिटी फोर्सेस अलगर कांडी इलाके में पहुंचे तो आतंकियों ने भागने के इरादे से फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद जवाबी कार्रवाई में सिक्योरिटी फोर्सेस ने भी गोलियां चलाई। बताया जा रहा है कि इसी दौरान कुछ लोगों ने पत्थरबाजी कर आतंकियों को बचाना चाहा, लेकिन सिक्योरिटी फोर्सेस ने अपनी फायरिंग को जारी रखा और 3 आतंकियों को मार गिराया। सभी आतंकी जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं। इस एनकाउंटर में एक जवान के शहीद होने की भी खबर है, जबकि एक सिविलियन भी इसमें जख्मी हुआ है, जिसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। ऑफिशियल्स के मुताबिक, तीनों आतंकी के मारे जाने के बाद फायरिंग भी बंद हो गई है। 

गांदरबल में हथियार हुए बरामद

वहीं इससे पहले गांदरबल में इंडियन आर्मी और एसओजी के ज्वॉइंट ऑपरेशन में भारी मात्रा में गोले बारूद बरामद किए गए हैं। बताया जा रहा है कि इनपुट मिलने के बाद सिक्योरिटी फोर्सेस ने नजवां के जंगलों में रेड मारी, जहां उन्हें बंदूकें, कारतूस और गोला बारूद मिले। इससे पहले यहां पर भी आतंकियों के छिपे होने की खबर थी। यहां पर भारी मात्रा में हथियारों के मिलने से अंदाजा लगाया जा रहा है कि आतंकी किसी बड़े हमले को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे।