दैनिक भास्कर हिंदी: जेट ने अस्थाई रूप से सस्पेंड किए अपने ऑपरेशन, नहीं मिली 400 करोड़ की अंतरिम फंडिंग

April 18th, 2019

हाईलाइट

  • भारत की सबसे पुरानी निजी एयरलाइन जेट एयरवेज ने बुधवार रात से अपने ऑपरेशन्स को अस्थाई रूप से बंद कर दिया है।
  • एयरलाइन ने SBI से 400 करोड़ रुपए की तत्काल मदद मांगी थी, लेकिन बैंक ने इस अनुरोध को खारिज कर दिया।
  • इसके बाद जेट ने एयरलाइन के ऑपरेशन्स को अस्थाई रूप से बंद करने का फैसला किया।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत की सबसे पुरानी निजी एयरलाइन जेट एयरवेज ने बुधवार रात से अपने ऑपरेशन्स को अस्थाई रूप से बंद कर दिया है। एयरलाइन ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से 400 करोड़ रुपए की तत्काल मदद मांगी थी, लेकिन बैंक ने जेट एयरवेज के इस अनुरोध को खारिज कर दिया। इसके बाद जेट ने एयरलाइन के ऑपरेशन्स को अस्थाई रूप से बंद करने का फैसला किया।

एयरलाइन ने एक बयान में कहा, 'चूंकि उधारदाताओं या किसी अन्य स्रोत से कोई आपातकालीन फंडिंग नहीं हो रही है, एयरलाइन ऑपरेशन को चालू रखने के लिए फ्यूल या अन्य महत्वपूर्ण सेवाओं के लिए भुगतान करने में सक्षम नहीं होगी। नतीजतन, तत्काल प्रभाव से जेट एयरवेज अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानों को रद्द करने के लिए मजबूर है। सस्पेंशन से पहले जेट की आखिरी उड़ान बुधवार को रात 10.20 बजे अमृतसर से मुंबई के लिए रवाना होगी।'

एयरलाइन ने कहा, 'पिछले कई हफ्तों और महीनों से कंपनी ने अंतरिम और दीर्घकालिक दोनों तरह की फंडिंग प्राप्त करने के लिए हर संभव कोशिश की है। दुर्भाग्य से अपने बहुत अच्छे प्रयासों के बावजूद, एयरलाइन के पास उड़ान के संचालन के अस्थायी निलंबन के साथ आगे बढ़ने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं बचा है। यह एक बहुत ही कठिन निर्णय रहा है, लेकिन अंतरिम फंडिंग के बिना एयरलाइन अपने मेहमानों, कर्मचारियों, भागीदारों और सेवा प्रदाताओं की उचित अपेक्षाओं के अनुरूप उड़ान संचालन करने में असमर्थ है।

इसमें यह भी कहा गया है कि यह निर्णय कंपनी के लिए उपलब्ध सभी विकल्पों के मूल्यांकन के बाद लिया गया है। जेट एयरवेज ने कहा कि उसने इस कार्रवाई के बारे में नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA), नागरिक उड्डयन, वित्त और अन्य संबंधित सरकारी संस्थानों के मंत्रालयों को सूचित कर दिया है। जेट एयरवेज ने कहा कि अब वह एसबीआई और भारतीय ऋणदाताओं के कंसोर्टियम की बोली को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया का इंतजार करेगा।

तत्काल धनराशि के लिए एयरलाइन के अनुरोध के जवाब में, उधारदाताओं ने कहा, 'एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (EOI) प्राप्त हुई हैं और आज पात्र प्राप्तकर्ताओं को बोली दस्तावेज जारी किए गए हैं। बोली प्रक्रिया 10 मई 2019 को समाप्त होगी। हम यह सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं कि बोली प्रक्रिया से इस समस्या का समाधान निकले।' यहां हम आपको ये भी बता दें कि कंपनी के पास अपने पेरोल पर 16,000 से अधिक कर्मचारी थे, लेकिन बीते कई महीनों से सैलरी न मिलने के कारण कई कर्मचारियों ने डोमेस्टिक और इंटरनेशनल प्रतिद्वंद्वी एयरलाइंस का हाथ थाम लिया है।