केरल नीट इनरवियर विवाद: केरल नीट इनरवियर विवाद: गिरफ्तार सभी 7 लोग जमानत पर रिहा

July 21st, 2022

हाईलाइट

  • सभी सात लोगों को कोल्लम जिले की एक निचली अदालत से जमानत मिल गई है

डिजिटल डेस्क, तिरुवनंतपुरम। केरल के कोल्लम जिले में नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के इनरवियर उतरवाने को लेकर उपजे विवाद के बाद गिरफ्तार किए गए सभी सात लोगों को गुरुवार को जमानत मिल गई। केरल पुलिस की ओर से राज्य में विवाद बढ़ने के बाद गिरफ्तार किए गए सभी सात लोगों को कोल्लम जिले की एक निचली अदालत से जमानत मिल गई है।

अदालत ने तब जमानत दे दी, जब सुनवाई के दौरान बताया गया कि गिरफ्तार किए गए लोगों ने जो कुछ किया, वह परीक्षण एजेंसी के नियमों का पालन करना भर था। इससे पहले गुरुवार की सुबह पुलिस ने मार थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ आईटी के वाइस प्रिंसिपल और नीट परीक्षा केंद्र अधीक्षक प्रीजी कुरियन इसाक और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के ऑब्जर्वर डॉ. शमनाद को गिरफ्तार किया था।

इससे पहले कॉलेज की दो महिला स्टाफ सदस्यों और टेस्टिंग एजेंसी स्टार ट्रेनिंग एकेडमी के तीन अन्य सदस्यों को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था। जाहिर है, एनटीए, जो नीट परीक्षा के संचालन के लिए जिम्मेदार है, ने तिरुवनंतपुरम में एक निजी एजेंसी को अनुबंध दिया था, जिसने बदले में करुणागपल्ली में एक अन्य एजेंसी को अनुबंधित किया था। छात्रों के अनुसार, एजेंसी द्वारा तैनात किए गए दस अप्रशिक्षित कर्मी घटना में शामिल थे।

घटना के बाद, चर्च बेस्ड कॉलेज राज्य के प्रमुख राजनीतिक दलों के छात्र संगठनों के विरोध प्रदर्शन से भारी दबाव में आ गया है। सोमवार को, एक अभिभावक ने इस घटना को पूरी तरह से अस्वीकार्य करार दिया और कहा कि उसके पास शिकायत दर्ज करने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है।

उन्होंने कहा, हमने दोपहर 12 बजे के आसपास अपनी बेटी को परीक्षा केंद्र पर छोड़ दिया था। उसकी परीक्षा के बाद, उसने (छात्रा) हमें बताया कि उसके इनरवियर में एक धातु की वस्तु थी, इसलिए उसे और कई अन्य छात्रों को कपड़ा हटाने के लिए कहा गया। जिस कॉलेज में परीक्षा हुई थी, उसने कहा कि उसकी कोई भूमिका नहीं है, क्योंकि ये काम एक एजेंसी द्वारा किया गया है, जिसे यह काम सौंपा गया था।

अभिभावक ने कहा कि जिन उम्मीदवारों को इस तरह के अपमान से गुजरना पड़ा है, वे जबरदस्त दबाव में हैं और केंद्र के अधिकारियों के इस असंवेदनशील व्यवहार के कारण वे अच्छा प्रदर्शन करने में असमर्थ रहीं। केंद्र में रविवार की परीक्षा के दौरान नीट की कुछ छात्राओं से कथित तौर पर उनके इनरवियर को हटाने के लिए कहा गया था।

 

 (आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.