दैनिक भास्कर हिंदी: ममता का दावा - लोकतंत्र खतरे में, मोदी जीते तो नहीं होंगे कोई चुनाव

May 8th, 2019

हाईलाइट

  • ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है
  • ममता ने कहा कि अगर मोदी इस बार लोकसभा चुनाव जीत जाते हैं, तो वह संविधान को नष्ट कर देंगे
  • ममता ने कहा कि मोदी के चुनाव जीतने पर अगली बार से कोई चुनाव नहीं हो पाएंगे

डिजिटल डेस्क, डेबरा। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। बुधवार को बंगाल के डेबरा में एक रैली को संबोधित करते हुए ममता ने कहा कि अगर मोदी इस बार लोकसभा चुनाव जीत जाते हैं, तो वह संविधान को नष्ट कर देंगे। ममता ने कहा कि मोदी के चुनाव जीतने पर अगली बार से कोई चुनाव नहीं हो पाएंगे।

ममता ने पीएम मोदी पर एक फासीवादी सरकार चलाने का आरोप लगाते हुए बीजेपी के खिलाफ अपने कैंपेन को 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन जैसा बताया है। ममता ने कहा, 'किसी को तो बीजेपी सरकार को हद में रखना होगा। 1942 में, अंग्रेजों के खिलाफ भारत छोड़ो आंदोलन शुरू किया गया था और अब हम फासीवादी मोदी को सत्ता से बाहर करने के लिए लड़ रहे हैं।'

TMC सुप्रीमो ने दावा किया कि अगर पीएम मोदी सत्ता में आते हैं तो "संवैधानिक रचना" को नष्ट कर देंगे और इसके बाद भविष्य में कोई चुनाव नहीं होगा। ममता ने कहा कि 'मोदी के दोबारा सत्ता में आने पर देश में कोई स्वतंत्र या लोकतंत्र नहीं होगा। यही समय है कि हम मोदी और बीजेपी को बाहर का रास्ता दिखाएं।'

ममता ने दावा किया कि पीएम मोदी और बीजेपी के सत्ता में आने से लोग सार्वजनिक रूप से अपनी राय व्यक्त करने से डरते हैं। उन्होंने कहा, 'देश में आपातकाल जैसी स्थिति है। कोई भी सार्वजनिक रूप से बाहर नहीं बोल सकता क्योंकि वह मोदी से डरते हैं। इस फासीवाद और आतंक को रोका जाना चाहिए।'

TMC चीफ ने पीएम मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि 'मोदी ने सत्ता में आने के बाद अच्छे दिनों का वादा किया था, जबकि वास्तव में पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ गई हैं और अल्पसंख्यक और आदिवासी लगातार हमलों का सामना कर रहे हैं। हमें ऐसा चौकीदार नहीं चाहिए, जो झूठ बोलता हो। मोदी कभी भी संकट के समय बंगाल नहीं पहुंचे। आपको बंगाल में एक बड़ा रसगुल्ला (शून्य सीटें) मिलेगा।'

ममता ने कहा, 'हमारे देश को महात्मा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, अंबेडकर, राजेंद्र प्रसाद और स्वामी विवेकानंद जैसे नेताओं की जरूरत है। वहीं बीजेपी गांधीजी की जगह नाथूराम गोडसे के बारे में बात करती है।'

बता दें कि मंगलवार को ममता बनर्जी ने पीएम मोदी के खिलाफ विवादित बयान दिया था। ममता ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने ऐसा झूठा प्रधानमंत्री नहीं देखा। चुनाव आते ही वह राम नाम जपने लगते हैं। ममता ने कहा था कि जब पीएम बंगाल आकर तृणमूल कांग्रेस की बुराई करते हैं, तो मुझे उन्हें थप्पड़ मारने का मन करता है।

खबरें और भी हैं...