दैनिक भास्कर हिंदी: राजस्थान में हड़कंप: 22 लोग जीका वायरस की चपेट में, केंद्र सरकार रख रही नजर

October 9th, 2018

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री कार्यालय ने मांगी डीटेल रिपोर्ट
  • केंद्र सरकार ने जयपुर भेजा 7 सदस्यीय दल
  • दल के अधिकारी मौके पर पहुंचकर जानकारी जुटा रही है

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में 22 लोगों में जीका वायरस की पहचान हुई है। इतनी बड़ी संख्या में जीका वायरस से संक्रमित मरीज मिलने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने डीटेल रिपोर्ट मांगी है। केंद्र सरकार ने हालात का जायजा लेने और जीका पर अंकुश लगाने एक 7 सदस्यीय टीम जयपुर भेजी है। टीम राजस्थान के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से जानकारी जुटा रही है।

 

 

क्या है जीका वायरस ?
जीका वायरस फ्लाविविरिडए वायरस फैमिली से माना जाता है। ये वायरस मच्छरों के द्वारा ही फैलता है। दिन में ये वायरस ज्यादा सक्रिय रहता है। गर्भावस्था वाली महिलाओं को इससे संक्रमित होने का खतरा ज्यादा होता है।  


कैसे पहुंचाता है नुकसान ?
जीका वायरस से प्रभावित बच्‍चे का जन्‍म छोटे और अविकसित दिमाग के साथ होता है। गर्भावस्था के दौरान वायरस का संक्रमण फैलने के कारण ऐसा होता है। इससे बच्चा दोष के साथ पैदा हो सकता है। सिर छोटा होने के अलावा नवजात का ब्रेन डैमेज होने की आशंका भी रहती है। इसके अलावा जन्मजात बहरापन, अंधापन भी हो सकता है।