comScore

मिजोरम में 40 सीटों पर होगा मतदान, 8 दलों के 209 कैंडिडेट हैं आमने-सामने

November 28th, 2018 07:54 IST
मिजोरम में 40 सीटों पर होगा मतदान, 8 दलों के 209 कैंडिडेट हैं आमने-सामने

हाईलाइट

  • मिजोरम में बुधवार को 40 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है।
  • मतदान सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक किया जाएगा।
  • 40 सीटों के लिए आठ पार्टियों के 209 कैंडिडेट आमने-सामने होंगे।

डिजिटल डेस्क, आइजोल। मिजोरम में 40 विधानसभा सीटों पर सुबह 7 बजे से मतदान होगा। यहां शाम 4 बजे तक मतदान किया जाएगा। 40 सीटों के लिए 8 पार्टियों के 209 कैंडिडेट आमने-सामने हैं। इनमें कांग्रेस  40 सीट, मिजो नेशनल फ्रंट (MNF) 40, बीजेपी 39, नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) 9 और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) 5 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। मिजोरम चुनाव में महिला प्रत्याशियों की संख्या 15 है।

नॉर्थईस्ट में मिजोरम एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां कांग्रेस सत्ता में है। मिजोरम में 7,70,395 रजिस्टर्ड वोटर हैं। इनमें 3.93 लाख महिला और 3.74 लाख पुरुष वोटर हैं। यह वोटर राज्य के 1,164 मतदान केंद्रों पर अपना वोट डालेंगे। वहीं त्रिपुरा में शिविरों से आने वाले 'ब्रू' शरणार्थियों के लिए भी 15 स्पेशल बूथ बनाए गए हैं। ब्रू जनजाति के करीब 32 हजार लोग 1997-98 से कैंप में रह रहे हैं। इनमें से 11 हजार रजिस्टर्ड वोटर हैं।

यहां पुलिस ने किसी भी गैरकानूनी गतिविधियों को रोकने के लिए 84 फ्लाइंग स्क्वॉड, 39 डायनामिक चेक पोस्ट, 80 स्टैटिक सर्वेलेंस टीम और 80 क्विक रिस्पोन्स टीमों का गठन किया है। वहीं राज्य में 50 से अधिक डीएसपी और एसपी रैंक के पुलिस अधिकारी हैं, जो सुरक्षा व्यवस्था को देख रहे हैं। मिजोरम में 38 पुलिस स्टेशन हैं और वोटरों की निगरानी के लिए पांच नए चौकी बनाई गई हैं। इसके अलावा सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स (CAPF), BSF, SSB, CRPF के जवान भी मौजूद रहेंगे।

राज्य में इस बार चुनाव हिंदुत्व और क्रिश्चियन के एजेंडे पर होने जा रहा है। राज्य में 90% आबादी क्रिश्चियन हैं। क्रिश्यियनों की इतनी बड़ी आबादी के बावजूद बीजेपी इस चुनाव को हिंदुत्व के मुद्दे पर ही लड़ रही है। इस बार मिजोरम में बीजेपी और क्षेत्रीय पार्टियों का आत्मविश्वास काफी बढ़ा है, क्योंकि राज्य में कई बड़े-बड़े नेताओं ने अपनी पार्टी को त्याग कर बीजेपी और MNF को जॉइन किया है। इनमें पूर्व कांग्रेस उपाध्यक्ष आर ललजिरलियाना और कैबिनेट मंत्री ललरिनलियाना साइलो MNF में शामिल हो गए हैं। वहीं कांग्रेस के पूर्व मंत्री बुद्धा चकमा और विधानसभा स्पीकर हिफेई भाजपा में चले गए हैं। 

कांग्रेस जहां एक तरफ MNF पर बीजेपी के नेतृत्व वाले नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस का हिस्सा होने का आरोप लगा रही है। वहीं MNF और जेडपीएम कांग्रेस पर गठजोड़ का आरोप लगा रही हैं। ऐसे में कांग्रेस-बीजेपी में कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है। इस साल मैदान में उतर रहे आठ दलों में से सिर्फ कांग्रेस (34 विधायक), MNF (5 विधायक) और मिजोरम पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के पास मौजूदा विधानसभा में सीटें हैं। 2013 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 45% और MNF को 28% वोट मिले थे। वहीं बीजेपी को राज्य में केवल 0.37% वोट मिले थे। बीजेपी का यह सबसे कम वोट शेयर था।

कमेंट करें
Frtb8