दैनिक भास्कर हिंदी: मुलायम सिंह बोले- मेरा कोई सम्मान नहीं करता, शायद मरने के बाद करें

August 26th, 2018

हाईलाइट

  • समाजवादी पार्टी के संस्थापक और पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव लंबे समय से राजनीतिक परिदृश्य से दूर चल रहे है।
  • सपा नेता भगवती सिंह के 86 जन्मदिन के मौके पर मुलायम सिंह भावुक हो गए और उनका दर्द छलक उठा।
  • मुलायम सिंह ने कहा, ऐसा वक्त आ गया है जब मेरा कोई सम्मान नहीं करता है, लेकिन शायद मेरे मरने के बाद लोग मेरा सम्मान करेंगे।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संस्थापक और पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव लंबे समय से राजनीतिक परिदृश्य से दूर चल रहे है। शुक्रवार को लखनऊ के गांधी सभागार में आयोजित सपा नेता भगवती सिंह के 86 जन्मदिन के मौके पर मुलायम सिंह भावुक हो गए और उनका दर्द छलक उठा। मुलायम सिंह ने कहा, ऐसा वक्त आ गया है जब मेरा कोई सम्मान नहीं करता है, लेकिन शायद मेरे मरने के बाद लोग मेरा सम्मान करेंगे।

राम मनोहर लोहिया के साथ भी ऐसा हुआ था
मुलायम ने कहा, राम मनोहर लोहिया के साथ भी ऐसा ही हुआ था। लोहिया कहा भी करते थे कि इस देश में जिंदा रहते कोई सम्मान नहीं करता है। अपने संबोधन में भगवती सिंह को लेकर उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के गठन में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने संगठन को मजबूत करने के लिए बहुत काम किया है। उन जैसे नेताओं की कोशिशों के चलते पार्टी इस मुकाम तक पहुंच पाई है। बता दें कि मुलायम सिंह पिछले साल पार्टी में नेतृत्व को लेकर बेटे और भाई के बीच हुए पारिवारिक झगड़े के बाद राजनीतिक परिदृश्य में ज्यादा सक्रिय नहीं दिखते हैं।

बाप-बेटे का पिछले साल हुआ था विवाद
गौरतलब है कि पिछले साल पार्टी नेतृत्व को लेकर समाजवादी पार्टी केअंदर जो हंगामा हुआ था उसके बाद आपसी कलह खुलकर सामने आ गई थी।  विवाद के दौरान मुलायम सिंह ने कहा था कि जो बेटा बाप का सगा नहीं हुआ, वह किसका सगा होगा। फिर भी मेरा आशीर्वाद बेटे के साथ है, लेकिन वह उनके फैसलों से सहमत नहीं हैं। मुलायम ने अखिलेश को धोखेबाज तक बता दिया था। उन्होंने कहा था 'जो बात का पक्का नहीं, वादा निभाने वाला नहीं, वह जीवन में कभी कामयाब नहीं होगा। बाप को धोखा दिया है। देश के सबसे बड़े नेता (पीएम मोदी) ने भी यह बात कही थी।'