AIPOC : पीएम मोदी ने वीसी के जरिए सम्‍मेलन को किया संबोधित, कहा अब सदन में QUALITY डिबेट की जरूरत

November 17th, 2021

हाईलाइट

  • नए विमर्श और नए संकल्प

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आज 82वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन का उद्घाटन किया। ये सम्मेलन हर साल कुछ नए विमर्शों और नए संकल्पों के साथ होता है। पीएम ने कहा हर साल इस मंथन से कुछ न कुछ अमृत निकलता है। 

भारत में व्‍यवस्‍थापिकाओं की शीर्ष संस्‍थाओं में अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों का सम्‍मेलन शामिल है, 1921 में शुरू हुए सम्मेलन का  2021 में  शताब्‍दी वर्ष है। शताब्‍दी वर्ष मनाने के लिए अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्‍मेलन के 82वें संस्‍करण का आयोजन 17-18 नवम्‍बर, 2021 को शिमला में किया जा रहा है। प्रथम सम्‍मेलन का आयोजन 1921 में शिमला में किया गया था। सम्मेलन का समापन हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ अर्लेकर करेंगे।

देश को नई ऊंचाइयों पर लेकर जाना है मोदी

पीएम मोदी ने  अपने संबोधन में कहा कि हमें आने वाले सालों में देश को नई ऊंचाइयों पर लेकर जाना है।असाधारण लक्ष्य हासिल करने हैं। ये संकल्प ‘सबके प्रयास’ से ही पूरे होंगे और लोकतन्त्र में भारत की संघीय व्यवस्था में जब हम ‘सबका प्रयास’ की बात करते हैं तो सभी राज्यों की भूमिका उसका बड़ा आधार होती है। ये हम सबकी जिम्मेदारी है कि आचार और व्यवहार से सही होना चाहिए।

QUALITY डिबेट डे, हेल्थी डे

पीएम मोदी ने कहा क्या साल में 3-4 दिन सदन में ऐसे रखे जा सकते हैं जिसमें समाज के लिए कुछ विशेष कर रहे जनप्रतिनिधि अपना अनुभव देश के साथ साझा करें। जिससे दूसरे जनप्रतिनिधियों और समाज के अन्य लोगों को भी  कुछ सीखने को मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा  डिबेट ऐसी हो जिसमें मर्यादा, गंभीरता का स्पष्ट पालन हो। और राजनीतिक छींटाकशी से बचा जा। पीएम मोदी ने कहा क्वालिटी डिबेट वाला दिन  सदन का सबसे हेल्थी समय और हेल्थी डे होगा।


 

 

खबरें और भी हैं...