दैनिक भास्कर हिंदी: CBI डायरेक्टर का नहीं हो सका चयन-सेलेक्ट कमेटी की बैठक रही बेनतीजा

January 25th, 2019

हाईलाइट

  • CBI के नए निदेशक के चयन के लिए हुई बैठक रही बेनतीजा।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। CBI के नए निदेशक के चयन के लिए आज (गुरुवार) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली सेलेक्ट कमेटी की बैठक हुई। इस बैठक में CBI के नए निदेशक के लिए संभावित नामों पर चर्चा की गई। हालांकि ये बैठक बेनतीजा रही। अब अगली बैठक कब होगी इसका अभी फैसला नहीं हो पाया है। इस बैठक में प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) रंजन गोगोई और लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल हुए।

बैठक के बाद कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘उन्होंने हमें 70 - 80 नामों की सूची दी है। इनके काम के बारे में कोई विवरण नहीं दिया गया। हमने उनसे कहा है कि वे इन नामों के बारे में पूरा विवरण प्रस्तुत करें।’ खड़गे ने कहा, अगले हफ्ते किसी भी समय दोबारा बैठक बुलाई जा सकती है। 

बैठक से पहले 1982 बैच से लेकर 1984 बैच के कई IPS अधिकारियों के नामों पर चर्चा की जा रही थी। सबसे ज्यादा चर्चा में 1984 बैच के असम-मेघालय काडर के IPS ऑफिसर और NIA के डायरेक्टर जनरल वाईसी मोदी के नाम की थी। वाईसी मोदी 2002 के गुजरात दंगों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट की बनाई SIT में शामिल थे। इस SIT ने तब गुजरात के मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट दी थी। वाईसी मोदी के अलावा CISF के डीजी राजेश रंजन और BSF के डीजी रजनीकांत मिश्रा का नाम भी चर्चा में थे। 

बता दें कि CBI पिछले 4 महीनों से बिना किसी नियमित निदेशक के काम कर रही है। आमतौर पर यह होता है कि CBI निदेशक के हटाए जाने के 1 महीने पहले से ही नए CBI निदेशक को चुन लिया जाता है, लेकिन यह पहली बार है जब CBI का निदेशक हटाए जाने के बाद नए निदेशक की नियुक्ति की जा रही है। 

साल 1979 बैच के IPS अधिकारी आलोक वर्मा ने 10 जनवरी को CBI चीफ के पद से हटाए जाने के बाद इस्तीफा दे दिया था। उनके बाद अक्टूबर 2018 से अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव ही CBI का कामकाज संभाल रहे हैं। अब बैठक के बाद नए CBI निदेशक का नाम फाइनल हो जाएगा।